जनपद में बढ़ रही जाली पत्रकारों की संख्या बना जांच का विषय

जनपद में बढ़ रही जाली पत्रकारों की संख्या बना जांच का विषय
  • कुछ तथाकथित लोग भी बन जा रहे पत्रकार
  • इस समय जनपद सोनभद्र में जाली पत्रकारों की लगी है भरमार
  • चट्टी चौराहों पर बना चर्चा का विषय

 

सोनभद्र :

जनपद सोनभद्र अति पिछड़ा एवं नक्सल प्रभावित होने के नाते जिला उतना विकास नहीं कर पाया वहीं कुछ सालों में जिले की तस्वीर बदल रही है मुकाम हासिल करने के कगार पर पहुंच गया है लोगों से ठगी करने वाले और पुराने पत्रकारों का मान सम्मान गिराने के लिए जनपद सोनभद्र में जाली पत्रकारों की  भी भरमार लग गई है

अगर जगह जगह देखा जाए तो इस समय बिना आईडी और अथॉरिटी लेटर के ही घूम रहे हैं जबकि अगर पत्रकार साहब से पूछा जाता है कि आप किस अखबार से हैं किस चैनल से हैं तो पत्रकार साहब को यह भी नहीं पता है कि हम किस अखबार और किस चैनल से हैं ना ही उनका अखबार कभी जनपद में आया है और ना ही उनका चैनल किस सेटेलाइट प्लेटफार्म पर उपलब्ध है

इस पर चुप्पी साधने के अलावा उनके पास कोई जवाब नहीं रहता उसके बावजूद भी वह बेखौफ तरीके से जनपद में घूम रहे हैं और अपना दौस जमा कर अपने आप को किसी हिंदी दैनिक न्यूज़ पेपर किसी चैनल का नाम बता कर अपने आप को पत्रकार बताते हैं जिससे आम जनता से लेकर के थाना कोतवाली चौकी के पुलिस अधिकारियों को भी पत्रकार बता कर अपना हनक जमाते हैं और उनसे धन वसूली का काम करते रहते हैं

जिससे  पुराने और अच्छे पत्रकारों का मान-सम्मान इसमें खराब हो रहा है लेकिन इसकी कभी जांच नहीं हो पाई है और बेखौफ तरीके से घूम रहे हैं जाली पत्रकारों पर ना ही कार्यवाही हुई जिसकी चर्चा है गांव गली मोहल्लों से लेकर चट्टी चौराहे पर जोरों शोर से चल रही है और यह चर्चा का विषय बना हुआ है !

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments