पूर्व SSP लखनऊ, दीपक चौरसिया इंडिया न्यूज़ ,यादव सिंह और अजित डोबाल संतोष मिश्रा की जेब में...

पूर्व SSP लखनऊ, दीपक चौरसिया इंडिया न्यूज़ ,यादव सिंह और अजित डोबाल संतोष मिश्रा की जेब में...

 

स्वतंत्र प्रभात

ब्यूरो गोंडा
 

लखनऊ : (गोमती नगर ) 

लखनऊ  के पूर्व एसएसपी राजेश पांडेय, दीपक चौरसिया इंडिया न्यूज़ ,यादव सिंह और अजित डोबाल के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले संतोष मिश्र जो अपने आप को इंडिया न्यूज़  का पत्रकार और दीपक चौरसिया का दाहिना हाथ बताते है  नौकरी और पुलिस प्रशाशन में काम करवाने के नाम पे फर्जीवाड़ा करने की खबर सामने आई है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार संतोष मिश्रा जिनका  पुराना  निवास "श्री कन्हैया, विराम खण्ड  गोमती नगर" में रहता है और  मूल निवासी ग्राम -मिश्रान का पुरवा  ,ब्लॉक -धानेपुर,जिला- गोंडा का रहने वाला है।  जिसके ऊपर कई लोगों के साथ धोखा धड़ी  करने का आरोप लगा है आरोप के मुताबिक वो लोगों से नौकरी के नाम पे पैसे लेके उन्हें कई नामी लोगों का झांसा दे के पैसे ऐंठ लेना और जब लोग किसी तरह घर आ जाये तो पता और फ़ोन बदल देना इनका पेशा है .

एक परिवार जो की वाराणसी से इनके पुराने मकान मालिक के पास जिनकी दूकान पत्रकार पुरम पे है । वो बेचारे पूरा दिन संतोष मिश्र  के पुराने मकान मालिक जिनकी दूकान पत्रकार पुरम चौराहे पे  है, के पास धुप, गर्मी में दिन भर बैठा रहा लेकिन संतोष मिश्र न तो उससे मिलने ए और न ही उसे पैसे दिए  ऐसे ही, विमल मल्हन गोमती नगर से कुछ पैसे ले के थाना पुलिस से सेटिंग करना । फैज़ाबाद के निवासी  पांडेयजी से भी दो लाख रुपये लेने  का मामला सामने आया है किसी काम को करने के लिए । पैसे ले के ये अपना पता  लगातार बदलते रहते  है। 

 जगह बदल- बदल के गरीबो और जरुरत मन्दो से ठगी करने वाले संतोष मिश्र के और भी कारनामे सामने आए है इसी क्रम में पूर्व  एसएसपी राजेश पांडेय के नाम पे 2 लाख रुपये की एक और ठगी का मामला आया है जिसमें संतोष मिश्रा  ने  पूर्व एसएसपी राजेश पांडेय को देने के नाम पे 3 लाख रुपये लिए और फिर उसे समय समय पे गुमराह करते हुए एक साल से पैसे न देते हुए धमकी भी दी, की मेरे जान पहचान के बहुत सरे लोग है और मैं कुछ भी करा सकता हूँ ।

 ऐसे ही कितने सारे लोग अलग अलग अधिकारी नेता के नाम पे ठगी कर रहे है । प्रशाशन को इन मामलों में संज्ञान लेते हुए कार्यवाही करनी चाहिए ताकि निकट भविस्य में किस और के साथ इस तरह की ठगी न होने पाए । 

गरीब लोगों का मुस्किल का पैसा जो 10,20,30 य 50,000 रुपये दे के लखनऊ आ के कैसे वसूल पाएंगे।  जानकारी के मुताबिक जो संज्ञान में आया है उसके हिसाब से लखनऊ में गोमती नगर जैसे प्राइम लोकेशन पे रह के केवल ठगी करके लाखो रुपये जो लिए जा रहे है।  पैसे देने वाले लोगों के अनुसार बातें जो संतोष मिश्र  बोलते है उनके कुछ अंश निम्नलिखित है .....

1. यादव सिंह के मामले में सीबीआई से बात करके यादव सिंह का नाम लिस्ट से हटवा दूंगा । 
2.जिसके सिलसिले में नोएडा अथॉरिटी के यादव सिंह से मिलने गए । 
3.अजित डोबाल  जो की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भारत सरकार है  उनसे संतोष मिश्र की डायरेक्ट बात होती है । 
4.यदव सिंह की पत्नी से संतोष मिश्र की हॉट टॉक हुई जिसमें मिस यादव सिंह ने बाद माफ़ी भी मांगी । 
5.यादव सिंह ने इनको 60 करोड़ रुपये और फॉर्चूनर देने का वादा किया .लेकिन संतोष मिश्र ने मना कर दिया .बोले काम होने के बाद ले लूँगा । 
6.दीपक चौरसिया जो की इंडिया न्यूज़ के एडिटर मिश्र उनके दाहिने हाथ है । 
7.एसएसपी राजेश पांडेय की वाइफ से भी जान पहचान । 
8 अयोध्या में किस संस्था के नाम पर लाखो रुपये इनके पास आता  रहता है। 

जिस तरह हास्यादपद बातें संतोष मिश्र जैसे लोग कर रहे है उनसे तो यही लगता है की ये लोग या तो मानसिक इलाज होना चाहिए  या फिर इनके ऊपर कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए। 

 

Comments