निर्दोष एल आई सी अभिकर्ता को फंसाने का किया जा रहा प्रयास

निर्दोष एल आई सी अभिकर्ता को फंसाने का किया जा रहा प्रयास

सुलतानपुर

निर्दोष एल.आई.सी.अभिकर्ता को फंसाने का किया जा रहा प्रयास

मामला करौदी कला थाना क्षेत्र ग्राम मारूफपुर शहाबुद्दीनपुर का प्रकाश में आया है।

बांगर कला निवासी केशव प्रसाद मिश्रा व जय नाथ उपाध्याय का आरोप है कि अभिकर्ता के द्वारा एलआईसी के नाम पर पैसा लेकर दूसरी कंपनी में पैसा जमा कराने का है।

जबकि उक्त केशव मिश्रा ने 2015 में एसकेडी लैंड मार्क एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी लिमिटेड में पचास हजार का एमआईएस प्लान दो साल के लिए लिया था तथा उसकी मेच्योरिटी भी प्राप्त कर चुके हैं।

उसके बाद केशव प्रसाद के द्वारा दुबारा अप्रैल 2016 मे अभिकर्ता को बुलाकर पांच लाख का एमआईएस प्लान यूनिवर्सल म्युचुअल बेनिफिट निधि लिमिटेड कंपनी में अपनी स्वेच्छा से केशव मिश्रा पुत्र स्व.शिवपूजन मिश्रा तथा बिन्दू देवी पत्नी केशव प्रसाद मिश्रा के नाम दो लाख पचास हजार का प्लान दोनों के नाम से लिया गया।

 केशव प्रसाद व बिंदु के पास चेक बुक न होने की वजह से जमा राशि कृष्ण कुमार के खाते में ट्रांसफर की गई उसके बाद कृष्ण कुमार के खाते से कंपनी को नेफ्ट किया गया था जिसकी रसीद अभिकर्ता कृष्ण कुमार के पास उपलब्ध है।
उक्त कंपनी की ऑफिस पयागीपुर के कैलाशी मार्केट में तथा जौनपुर में ग्राउंड फ्लोर कमला हॉस्पिटल निकट परमार ऑटो एजेंसी जेसीज रोड जौनपुर मे थी। जौनपुर की ऑफिस कुछ समय के बाद जेसीज चौराहे से बदलकर यशवंत कटरा रूम नंबर 110 रोडवेज जौनपुर के पते पर हो गई थी। उक्त दोनों कंपनियों के उच्चाधिकारियों द्वारा अचानक ऑफिस बंद कर दिया गया जिससे अभिकर्ता ,जमाकर्ता व पालिसी धारकों को गहरा सदमा लगा।

अभिकर्ता के द्वारा पालिसी धारकों के साथ किसी भी तरीके का छल कपट व ठगी नहीं की गई है।

उक्त मामले की जानकारी अभिकर्ता के द्वारा जौनपुर पुलिस अधीक्षक को प्राप्त करा दी गई थी जांच कर कार्यवाही करने की भी मांग की गई थी। अभिकर्ता के द्वारा कार्यवाही की मांग जौनपुर पुलिस अधीक्षक से लगभग 6 माह पूर्व ही की जा चुकी है।


सूत्रों के अनुसार उक्त कंपनी के धोखाधड़ी के मामले को दस सितंबर 2018 को सुल्तानपुर पुलिस अधीक्षक व जिला अधिकारी को भी कार्यवाही हेतु पालिसी धारक  व  अभिकर्ताओं के द्वारा अवगत कराया गया है।

प्रार्थी के द्वारा उक्त मामले की जांच कराए जाने व दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की गई।

सूत्रों के मुताबिक जमा कर्ताओं के द्वारा प्रार्थी को जानबूझकर फंसाए जाने का प्रयास किया जा रहा है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments