निर्माण कार्यों में शत-प्रतिशत गुणवत्ता सुनिश्चित करने के दिए निर्देश- प्रभारी मंत्री

निर्माण कार्यों में शत-प्रतिशत गुणवत्ता सुनिश्चित करने के दिए निर्देश- प्रभारी मंत्री

सुलतानपुर

निर्माण कार्यों में शत-प्रतिशत गुणवत्ता सुनिश्चित करने के निर्देश

अपराध पर अंकुश लगाने हेतु प्रभावी कार्यवाही की जाय-प्रभारी मंत्री विकास तथा राजस्व कार्यों की प्रगति समीक्षा। निर्माण कार्यों में शतप्रतिशत गुणवत्ता सुनिश्चित करने के निर्देश ...

 

प्रदेश के आबकारी एवं मद्य निषेध मंत्री /प्रभारी मंत्री श्री जय प्रताप सिंह गुरुवार को जनपद के कलेक्ट्रेट में समीक्षा बैठक किये जहाँ मौजूद  सभी बिभाग के सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किये कि विकास तथा राजस्व कार्यों का शतप्रतिशत लक्ष्य समय से पूर्ण करें, सबसे पहले उन्होंने विभागवार प्रगति समीक्षा एवं जनपद की कानून व्यवस्था की थानावार समीक्षा की प्रभारी मंत्री ने सम्बन्धित थानाध्यक्षों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद की कानून व्यवस्था में और सुधार की आवश्यकता है।

अपराध पर अंकुश लगाने हेतु प्रभावी कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार कानून व्यवस्था को सुदृढ़ करने की दिशा में प्रयासरत है। सरकार की मंशा के अनुसार पुलिस के अधिकारी आमजन में ऐसा माहौल बनायें कि फरियादी बिना डरे अपनी शिकायत थाने में आकर कर सके। उन्होंने कहा कि एफआईआर दर्ज करने में किसी प्रकार की हीलाहवाली सम्बन्धित थानाध्यक्ष न करें, यदि कोई गम्भीर प्रकरण हो तो सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी व पुलिस अधीक्षक से वार्ता कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि छोटी-छोटी घटनाएं गम्भीर रूप धारण कर लेती हैं, जिससे कानून व्यवस्था प्रभावित होती है। उन्होंने कहा कि यद्यपि जिले की कानून व्यवस्था अच्छी है , लेकिन अभी और सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बीट में लगे सिपाही पर ध्यान दिया जाय कि वह सम्बन्धित ग्राम में नियमित रूप से जा रहें हैं अथवा नहीं। राजस्व व् विकास स्वास्थ्य की हुई समीक्षा--- प्रभारी मंत्री ने बैठक के अवसर पर राजस्व व विकास कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान सभी सम्बन्धित को निर्धारित लक्ष्य समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में शतप्रतिशत गुणवत्ता सुनिश्चित किया जाय।

उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना पर विशेष बल दिया। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे प्रधानमंत्री आवास योजना सहित ब्लाक स्तर पर संचालित सभी योजनाओं की नियमित समीक्षा करें और योजनाओं के क्रियान्वयन में पूरी तरह पारदर्शिता सुनिश्चित करायें। प्रभारी मंत्री ने खण्ड विकास अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि सभी पेंशन के लाभार्थियों सत्यापन कर रिपोर्ट उपलब्ध करायें, जिससे लाभार्थियों के खाते में समय से पेंशन की धनराशि भेजी जा सके।

प्रभारी मंत्री ने कर करेतर राजस्व वसूली , मुख्यदेय व विविध देय की प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा में वाणिज्य कर, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन, आबकारी, परिवहन, विद्युत देय शामिल थे। उन्होंने  इस अवसर पर विद्युत विभाग द्वारा विद्युत चोरी तथा बिल भुगतान के सम्बन्ध में की गयी कार्यवाही की जानकारी ली। प्रभारी मंत्री ने चिकित्सा विभाग की समीक्षा में पाया कि जिले में दवाओं की उपलब्धता भी ठीक है। उन्होंने संस्थागत प्रसव व टीकाकरण कार्यक्रम की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने पाया कि खसरा और रूबैला टीकाकरण का शुभारम्भ जनपद में 26 नवम्बर को किया गया और टीकाकरण हेतु टीमों की तैनाती के साथ पर्यवेक्षकों की तैनाती की गयी है। उन्होंने इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों के प्राथमिकता पर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिए।

उन्होंने एम्बुलेन्स सेवाओं के सम्बन्ध में सम्बन्धित से जानकारी ली। उन्होंने प्राप्त कॉलों के शतप्रतिशत को उठाने एवं जरूरतमंदां की हर सम्भव मदद करने के निर्देश दिए। उन्होंने संस्थागत प्रसव , जननी सुरक्षा योजना की प्रगति समीक्षा की। प्रभारी मंत्री ने इस अवसर पर भू-माफियाओं तथा अतिक्रमणकर्ताओं के विरूद्ध प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा में पाया कि जनपद की पांचो तहसीलों सदर में 08, कादीपुर में 12, लम्भुआ में 01, जयसिंहपुर में 04 तथा बल्दीराय में 15 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें कुल 40 प्राप्त शिकायतों का निस्तारण सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा किया गया है।  उन्होंने इस अवसर पर राजस्व वादों के निस्तारण की समीक्षा की तथा सम्बन्धित अधिकारियों को समय से वादों के निस्तारण के निर्देश दिए।

उन्हांने लोकवाणी/जनसेवा केन्द्रों के माध्यम से जारी होने वाली राजस्व विभाग के सेवाओं की स्थिति की समीक्षा की। समीक्षा में पाया कि विगत माह तक लम्बित एवं गत माह के जाति प्रमाणपत्र, निवास प्रमाण पत्र एवं आय प्रमाण पत्र के कुल 61 हजार 947 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए , जिनमें से 57 हजार 708 प्रार्थना पत्रों को समयबद्ध निस्तारण किया गया, शेष 4 हजार 239 प्रार्थना लम्बित पाये गए। उन्होंने शेष प्रार्थना पत्रों के समयबद्ध निस्तारण के निर्देश दिए।  उन्हांने इस अवसर पर विभिन्न प्रकार की दैवी आपदाओं से प्रभावित व्यक्तियों पहुंचायी गयी राहत के सम्बन्ध में जानकारी ली।

उन्होंने  पाया कि जनपद में अग्निकांड से 341 व्यक्ति प्रभावित हुए, जिनकी हर सम्भव मदद की गयी। उन्हांने इस अवसर पर सम्पूर्ण समाधान दिवस पर प्राप्त लम्बित एवं निस्तारित शिकायतों की समीक्षा की। उन्होंने पाया कि गत माह में कोई भी शिकायत निस्तारण हेतु लम्बित नहीं है, अक्टूबर माह में कुल 1421 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें से 1292 का निस्तारण किया जा चुका हैं। उन्होंने शेष प्रकरणों के ससमय गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिए।  इस अवसर पर उन्होंने चकबंदी वादों के निस्तारण, आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा की।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments