हत्या के प्रयास में पिता-पुत्र समेत  तीन को अदालत ने ठहराया दोषी

हत्या के प्रयास में पिता-पुत्र समेत  तीन को अदालत ने ठहराया दोषी

एडीजे तृतीय उत्कर्ष चतुर्वेदी की अदालत ने सुनाई सात-सात वर्ष के कठोर कारावास व अर्थदंड की सजा

सुल्तानपुर

जमीनी विवाद को लेकर हुए जानलेवा हमले में अदालत ने बाप-बेटे समेत तीन आरोपियो को ठहराया दोषी, अपर सत्र न्यायाधीश तृतीय उत्कर्ष चतुर्वेदी की अदालत ने तीनों को सुनाई सात-सात वर्ष के कठोर कारावास व 10-10 हजार रुपये अर्थदंड की सजा, आरोपी रामसागर,उसके पुत्र राजकुमार निवासीगण मोहद्दीपुर व सहआरोपी संतोष यादव निवासी कानूपुर को कोर्ट ने सुनाई सजा,

चौथे आरोपी रामसुमिरन निवासी कानूपुर की विचारण के दौरान हो चुकी है मृत्यु, 21 जुलाई 2009 की घटना बताते हुए अभियोगी सकलेन निवासी भाई-धम्मौर ने दर्ज कराया था मुकदमा, अभियोजन पक्ष से शासकीय अधिवक्ता रामअचल मिश्र ने आठ गवाहो को पेश कर कड़ी सजा से दण्डित किये जाने की मांग , अभियोजन की सटीक पैरवी से केस हुआ साबित, बचाव पक्ष आरोपियो को निर्दोष साबित कर पाने में रहा असफल, पीपरपुर थाना क्षेत्र से जुड़ा है मामला।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments