बिजली विभाग की लापरवाही से गयी कार्यरत अध्यापक की जान

बिजली विभाग की लापरवाही से गयी कार्यरत अध्यापक की जान
  • जर्जर तार व लकड़ी के खंभे के सहारे की जा रही थी विद्युत आपूर्ति
  • सुभाष इंटरकालेज के प्रबंधक व प्रधानाचार्य समेत अध्यापकों ने शोक सभा का किया आयोजन

स्वतंत्र प्रभात-सुनील मिश्रा

उमरी बेगमगंज गोण्डा

स्थानीय सुभाष इंटर कॉलेज में कृषि संकाय में तैनात अध्यापक वीरेंद्र प्रताप सिंह निवासी अमदही पूरे रामसरन की करंट लगने से मौत हो गई।मृतक के भाई भानु प्रताप सिंह की सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

सोमवार को खेत में आलू बुवाई  का काम चल रहा था, वीरेंद्र प्रताप सिंह अपना खेत देखने गए थे,वह खेत के किनारे बेसहारा मवेशियों से बचाने के लिए लगाए गए कटीले तारों के बाढ़ के पास खड़े थे तभी ऊपर से गुजर रही विद्युत लाइन का तार टूट कर इनके ऊपर गिर गया

और यह उसकी चपेट में आ गए।अस्पताल ले जाते समय रास्ते में इनकी मौत हो गई शिक्षाविद वीरेंद्र प्रताप सिंह भारत भारती प्रकाशन में कृषि विज्ञान विषय के संपादक मंडल के प्रमुख थे।इनकी मौत से हर कोई स्तब्ध रह गया।

 घटना के पीछे कहीं ना कहीं बिजली विभाग की लापरवाही सामने आ रही है। लकड़ी के खंभों पर खींची गई विद्युत लाइन विभागीय अधिकारियों के दावों की पोल खोल रहे हैं। मृतक के खेत से होकर गांव को दी जाने वाली विद्युत सप्लाई लकड़ी के खंभों के सहारे पर टिकी है।

इस बावत थानाध्यक्ष उमरीबेगमगंज अटल बिहारी ठाकुर ने बताया कि सूचना मिली है शव को पीएम के लिए भेजा जा रहा है। शिक्षाविद की मौत पर सुभाष इंटर कॉलेज के प्रबंधक यशवंत सिंह प्रधानाचार्य सहदेव सिंह अध्यापक राजेश सिंह वेद प्रकाश सिंह लल्ला मास्टर अमित सिंह आनंद सिंह शिव बहादुर सिंह अवधेश सिंह ने शोक संवेदना व्यक्त की।

Comments