प्रियदर्शनी इन्दिरा गांधी का बलिदान दिवस एवं लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म दिवस मनाया गया

प्रियदर्शनी इन्दिरा गांधी का बलिदान दिवस एवं लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म दिवस मनाया गया

उन्नाव। जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय में प्रियदर्शनी इन्दिरा गांधी का बलिदान दिवस एवं लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म दिवस मनाया गया। इस अवसर पर कांग्रेस जनों ने पूर्व प्रधानमंत्री  इन्दिरा गांधी को श्रृद्धा-सुमन अर्पित किये तथा नये भारत के निर्माण के लिये  पटेल के कार्यो को याद कर नमन किया।
कांग्रेसजनों को सम्बोधित करते हुये कांग्रेस जिलाध्यक्ष डा0 सूर्य नारायण यादव ने कहा कि स्व0 इंदिरा गांधी ने देश को हमेशा बुलन्दियों पर पहुँचाने का ही लक्ष्य रखकर ही काम किया। यह उन्ही के प्रयासों का परिणाम है, कि आज हमारा देश संसार के ताकतवर देशों में माना जाता है। जिस देश में कभी जहाँ सुई तक नहीं बनती थी वहीं जहाजों तक का निर्माण होना हमारी प्रगति की निशानी है। सरदार पटेल का नमन करते हुये उन्होंने कहा कि उनके द्वारा लिये जाने वाले निर्णयों के कारण ही उन्हें लौह पुरुष के नाम से पूरे भारत वर्ष ने सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश का जो खाका सरदार बल्लभ भाई पटेल ने देखा था उन्हीं आदर्शों पर आज कांग्रेस के कार्यकर्ता आदरणीय सोनिया गांधी जी व राहुल गांधी के नेतृत्व में देश की एकता, अखण्डता के प्रति कटिबद्ध हैं।
कांग्रेस शहर अध्यक्ष अमित शुक्ला ने श्रीमती इन्दिरा गांधी को श्रृद्धा सुमन अर्पित करते हुये कहा कि उन्होंने देश को नयी दिशा दी। भारत का नाम उन्होंने विदेशों में रोशन किया। देश की अस्मिता के साथ उन्होंने कभी सौदा नहीं किया। सरदार  पटेल का नमन करते हुये उन्होंने कहा कि देश को आजाद कराने में पटेल की भूमिका के कारण ही उन्हें लौह पुरुष की संज्ञा दी गयी। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल ने अपने सिद्धान्तों के साथ कभी समझौता नहीं किया। सरदार पटेल जी के जीवन का एक-एक अंश आने वाली पीढ़ी को भारत देश की सुन्दरता व सद्गुण का वृहद ज्ञान देती है।
इस अवसर पर दिनेश शुक्ला, कृष्णपाल सिंह यादव, अनवर खुर्शीद, ओम प्रकाश रावत, राज कुमार लोधी, नेहा पाण्डेय, संजय निगम, विवेक शुक्ला, विश्वास निगम, अनुराग सिंह, अरुण कुमार कुशवाहा, फैज हसन, राजू निगम, अवधेश सिंह, अजय श्रीवास्तव, मोहम्मद सलीम खां, शम्भू शुक्ला, विजय शंकर त्रिपाठी, सुभाष सिंह आदि लोग उपस्थित थे।

Comments