सरकारी तंत्र को मुंह चिढ़ाती यह मूक तस्वीर  कहां है हमारे हिस्से का चारा

सरकारी तंत्र को मुंह चिढ़ाती यह मूक तस्वीर  कहां है हमारे हिस्से का चारा

 उन्नाव। जनपद के विकास खंड हिलौली की बाजार में गौमाता और किसान भगवान के सच्चे साथी बैलों के झुंड ने आज सुबह-सवेरे हिलौली बाजार का निरीक्षण करने निकल पड़े।

जो सारी दुकानों का निरीक्षण करते हुए और अपनी दुर्दशा पर आंसू बहाते हुए सरकार की सारी योजनाओं पर सींग और लात मारते हुए

तथा एक छुपा हुआ संदेश देते हुए बाजार से निकल गए। संदेश से स्पष्ट ज्ञात होता है सरकार की योजना गौशालाओं की व्यवस्था अगर ठीक होती तो चारे-पानी के लिए यूं अपने मित्र किसान भगवान के खेतों में गौमाता और बैलों के झुंड उत्पात ना करते अब पापी पेट के लिए सरकार ध्यान नहीं देगी

तो एक सहारा किसान भगवान की खड़ी फसल ही है जो मवेशियों का पेट भरने के काम आएगी तथा सरकार द्वारा मवेशियों पर खर्च होने वाली रकम ग्राम विकास अधिकारी खंड विकास अधिकारी ही चबाने का काम करें

जिससे खंड विकास अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी अपना तथा अपने कुटुंबजनों का भरण-पोषण करें। इससे गौशाला में बंद मवेशियों का लाभ होने वाला नहीं है मवेशियों की विकराल समस्या पर सरकार को ध्यान देने की आवश्यकता है। 

Comments