छुट्टा पशु पर भ्रामक रिपोर्ट, राहगीर व किसान है परेशान

छुट्टा पशु पर भ्रामक रिपोर्ट, राहगीर व किसान है परेशान

नरेश गुप्ता/ राजकुमार गुप्ता की रिपोर्ट

छुट्टा पशु पर भ्रामक रिपोर्ट, राहगीर व किसान है परेशान

जनसुनवाई पोर्टल पर दी आख्या जवाब_ छुट्टा पशु दिखते ही नहीं

वाराणसी राजातालाब

राष्ट्रीय राजमार्ग राजातालाब पर छुट्टा पशुओं की भरमार है।छुट्टा पशु दिन व रात में सड़कों पर बैठे रहते हैं जिससे यात्रियों को भारी फजीहत होती है। छुट्टा पशु दर्जनों की संख्या में राजातालाब व आसपास के गांव में जाकर फसलों को भी खा जाते हैं जिससे किसान परेशान हैं। क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने पिछले दिनों मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर राजातालाब क्षेत्र में बहुतायत संख्या में छुट्टा पशु होने की शिकायत की थी।

राजकुमार ने छुट्टा पशुओं के कारण आए दिन हो रही दुर्घटनाओं तथा किसानों की फसल चर लिए जाने की बात बताई है। लेकिन सरकारी साहबान को छुट्टा पशु दिखाई ही नहीं पड़ते। जनसुनवाई पोर्टल पर सीएम योगी को की गयी गई शिकायत के जवाब में खंड विकास अधिकारी आराजी लाइन की ओर से यह रिपोर्ट लगाकर मामले को निक्षेपित करा दिया गया कि राजातालाब में छुट्टा पशु दिखाई नहीं देते। इस सूचना और जानकारी से क्षेत्रीय किसान व लोग हैरान हैं।

लोगों का कहना है कि इस कदर गलत रिपोर्ट सरकार के समक्ष पोर्टल पर दी जा रही है तो कैसे छुट्टा पशुओं पर लगाम लगेगा। लोगों की मांग है कि गलत आख्या देने वालों पर कार्रवाई की जाए। राजकुमार गुप्ता ने बताया कि 20 अगस्त को दिए गए रिपोर्ट में खंड विकास अधिकारी आराजी लाइन दिवाकर सिंह ने यह रिपोर्ट भेज दी है कि राजातालाब में सड़क पर एक भी छुट्टा पशु नहीं दिखाई देते।

जबकि स्थिति यह है कि शुक्रवार को भी दर्जनों छुट्टा पशु सड़क पर तथा सड़क के बीचो बीच बैठे हुए थे। छुट्टा पशुओं के द्वारा कई लोगों को मारकर घायल किए जाने की भी सूचनाएं  मिलती रहती है जबकि कई यात्री इनके हमले में घायल भी हो चुके हैं। वाहन चालक भी पशुओं से टकराकर गिर पड़ते हैं पशुओं के सड़क पर रहने से लगातार खतरे और दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। इस बाबत फीडबैक दर्ज कराकर उचित कार्रवाई की मांग की गई है।
 

Comments