काशी से कासवा धाम की यात्रा की बनारस के यात्रियों ने 

काशी से कासवा धाम की यात्रा की बनारस के यात्रियों ने 

नरेश गुप्ता/ राजकुमार गुप्ता की रिपोर्ट

काशी से कासवा धाम की यात्रा की बनारस के यात्रियों ने 


वाराणसी
काशी से महात्मा गांधी की जयंती पर साबरमती में स्वच्छता दिवस मनाने गए लोगों ने रविवार को कासवा धाम की यात्रा की। समूह के लोगों ने वहां पर कासवा काशी धाम में मंदिर में मत्था टेका। वहां के पुजारी राजा भाई भगत ने बताया कि कासवा धाम  काशी से सदियों से जुड़ा है।काशी के संत यहां पर सैकड़ों वर्ष पूर्व आए हुए थे।

तथा यहां के संतों का लगातार काशी जाना होता है।जो काशी में काशी विश्वनाथ मंदिर में जाकर मत्था टेकते हैं। राजा भाई ने बताया कि मंदिर अति प्राचीन है। काशी में काशी विश्वनाथ विराजते हैं तो यहा कासवा धाम में उनके नाग देवता विराजते हैं। राजा भाई महंत जिसे गुजरात में भुआजी के नाम से पुकारा जाता है उन्होने बताया कि यहां कासवा धाम में काशी के लोगों को अपने बीच पाकर काफी खुश है। राजा भाई जो कि यहां के महंत हैं और उन्हें भुआ जी के नाम से जाना जाता है वे मंदिर की देखरेख करते हैं।

मंदिर की देखरेख उनके पिताजी पहले किया करते थे जिन्हें लोग जयराम बाबा के नाम से पुकारते थे। काशी से पहुंचे सरपंच स्वछग्रहियों का उन्होंने मंदिर परिसर में साल देकर स्वागत किया। महंथ राजा भाई ने घंटों काशी के लोगों के साथ बिताया। उन्होंने यात्रा पर गए लोगों से कहा कि यहां पर मंदिर का जीर्णोद्धार किया जा रहा है जिसके लिए देश के प्रधानमंत्री तथा काशी के सांसद माननीय नरेंद्र भाई मोदी जी को आमंत्रित किया जाएगा। कहा कि हिंदुस्तान में सारे धर्म और उनके तीर्थ स्थान एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। जो आप से धार्मिक सद्भाव और भाईचारा को बढ़ाते हैं।

इस अवसर पर यहां बनारस के ग्राम प्रधान शिववचन सिंह चौहान, रौना कला की रीमा सिंह, खुशहाल तिवारी, गुड़िया, प्रणय सिंह, अजय सिंह सुनीता सहित भारी संख्या में लोग पहुंचे हुए थे। कासवा काशी धाम ले जाने की व्यवस्था मेहसाणा जनपद के कड़ी तालुका के तालुका अधिकारी आर एम पटेल और सहायक तालुका अधिकारी महेंद्र सिंह जाला पारूल, आशा उनके सहयोगियों ने की थी। रिपोर्ट राजकुमार गुप्ता वाराणसी

Comments