वाराणसी: बाबरी मस्जिद की शहादत पर बंद रहेगा मुस्लिम करोबार , 1992 से लगातार हो रही बंदी, करोड़ो का टर्न ओवर होता है प्रभावित....

वाराणसी: बाबरी मस्जिद की शहादत पर बंद रहेगा मुस्लिम करोबार , 1992 से लगातार हो रही बंदी, करोड़ो का टर्न ओवर होता है प्रभावित....

वाराणसी: बाबरी मस्जिद की शहादत पर बंद रहेगा मुस्लिम करोबार , 1992 से लगातार हो रही बंदी, करोड़ो का टर्न ओवर होता है प्रभावित....

 


मो रिज़वान
**************

वाराणसी: बाबरी मस्जिद की शहादत पर गुरुवार को शहर के मुस्लिम अपना कारोबार बंद रखेंगे। प्रमुख मुस्लिम बाजार दालमंडी नई सड़क, कपड़ा मार्किट, बेनिया, सरायहड़हा, भिखाशाह गली, नारियल बाजार, छत्तातले, घुघरानी गली, कच्ची सराय, चाहमामा, कोदई चौकी व चौक आदि इलाके की दुकानों के शटर भी नही उठेंगे इन इलाकों में लोग यर्ष 1992 से लगातार मस्जिद शहीद किये जाने के गम में अपना- अपना करोबार बंद रखते है हालॉकि अब इसके लिए न तो कोई अपील होती है और न ही कोई एलान बावजूद इसके स्वेच्छा से सभी अपने करोबार को बंद रखते है। घरों और मस्जिदों में दुअख्वानी होती है प्रमुख मुस्लिम इलाको में बंदी की अपील वाली तख्तिया लगा दी जाती है। जिस पर लिखा होता है कि आज काला दिवस है दुकाने नहीं खुलेंगी। एक अनुमान के मुताबिक बंदी से तकरीबन 5 से 10 करोड़ से ज्यादा का टर्न ओवर प्रभावित होता है। पहले आलमीन सोसायटी की और से शिवाला पर धरना प्रदर्शन किया जाता था और मगर बनारस बंद की अपील जाती तो मगर कुछ वर्ष पूर्व अमनो-मिल्लत बनाये रखने के लिए यह आयोजन बंद हो गया, मगर बनारस के मुस्लिम अपना कारोबार बंद करके अपने गम का इजहार  करते है बंदी के चलते हड़हा सराय का बिसातबाने का कारोबार बेनिया का प्लास्टिक, नई सड़क का कपड़ा व्यवसाय, दालमंडी का इलेक्ट्रनिक पार्ट्स रेडीमेट होजरी समेत तमाम करोबार बंद रहता है

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments