चलते-चलते...

चलते-चलते...

 हितेन्द्र शर्मा

जब भी हम BS-IV बाइक पर निकलते है, आपने महसूस किया होगा कि बहुत से व्यक्ति आपको हाथ गोल-गोल कर, उंगलियों के माध्यम से बताने की कोशिश करते हैं कि Headlight जल रही है।जानकारी के लिए कहना होगा कि दिन में Lights जलने से वाहन के ऊपर कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता है।अब ज्ञानवर्धन के लिए कि दिन में लाइट जलने का नियम 1 अप्रैल 2017 से लागू कर दिया गया था और इसे ऑटोमोबाइल कंपनियों द्वारा लागू कर दिया गया है।

वर्ष 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने BS-III (Bharat Stage Emission Standards) वाहनों की बिक्री पर रोक लगा दी है क्योंकि यह वाहन ज्यादा प्रदूषण फैलाते थे।BS-IV ईंधन से चलने वाले इस इंजन का नया फीचर यह है कि इसमें वाहन का इंजन स्टार्ट होते ही वाहन की Headlights भी जल जाएगी।जब तक दोपहिया वाहन का इंजन स्टार्ट रहेगा तब तक हेडलाइट ऑन रहेगी। वाहन चालक इसे चाहकर भी बंद नहीं कर पाएंगे। 

यह स्पष्ट करना अनिवार्य है कि गाड़ियों में दिन में हेडलाईट जलाने का नियम यूरोपीय देशों में पहले से ही लागू है जिसके कारण वहां पर वाहन दुर्घटनाएं कम होतीं हैं।दिन में Lights जलने से धूल, बरसात, घने कोहरे और भारी ट्रैफिक में वाहन चालक दूसरे वाहनों को आसानी से पहचान पाएंगे। इसके अलावा सामान्य मौसम में भी जब सामने से आ रहे वाहन की लाइट चमकती है तो सामने वाला सतर्क हो जाता है जिससे एक्सीडेंट की संभावना कम हो जाती है।

अगर सरकार द्वारा इस नियम को सामान्य जनता पर लागू कर दिया जाता है तो

1. सर्वप्रथम पुराने मॉडल की गाड़ियाँ बंद हो जाएँगी। 
2. विकल्प के रूप में पुराने वाहनों को हेडलाइट को मेनुअली ऑन रखना अनिवार्य होगा। 
3. दिन में दोपहिया वाहन में ‘लाइट ऑफ’ मिली तो ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन माना जाएगा। 
4. Headlights के लिए जुर्माना भी होगा।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments