बस्ती में स्वास्थय विभाग का कारनामा तीन वर्ष से फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा अस्पताल

बस्ती में स्वास्थय विभाग का कारनामा तीन वर्ष से फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा अस्पताल

विक्रमजोत हर्रैया बस्ती

विक्रमजोत विकासखंड के सुकरौली गांव मे स्थित दो दर्जन से अधिक राजस्व गांवो की लगभग पच्चीस हजार की आबादी के इलाज का जिम्मा सम्भाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुकरौली लगभग तीन वर्षों से चिकित्सक विहीन है।तीन वर्ष पहले यहाँ पर तैनात चिकित्सक डाक्टर अरविंद कुमार दूबे के स्थानान्तरण के बाद से अस्पताल पर चिकित्सक की तैनाती नही हुई

अस्पताल का संचालन फार्मासिस्ट विनोद कुमार व वार्ड ब्वाय लैमुअल सी लाल के सहारे हो रहा है। जिनका भी अस्पताल पर आने जाने का कोई निश्चित समय नहीं होने के स्थानीय ग्रामीणों को इलाज के लिए मीलों दूर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र विक्रमजोत व जिला चिकित्सालय बस्ती व अयोध्या तक जाना पड़ रहा है।

जिससे उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कर्मचारियों की कमी के चलते को सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी   योजनाओं का लाभ भी ग्रामीणों को समय पर नहीं मिल पा रहा है। विभागीय उदासीनता के चलते वर्षों पूर्व बने इस अस्पताल का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है और अस्पताल खण्डहर में तब्दील हो गया है ।

इस सम्बंध मे पूछे जाने पर विक्रमजोत सीएचसी प्रभारी डा.आसिफ फारूखी ने बताया कि वहाँ किसी चिकित्सक की तैनाती न होने से इलाज में दिक्कतें आती है।चिकित्सक की तैनाती के लिए उच्चाधिकारियों को सूचना दे दी गयी है रही कर्मचारियों के लेट लतीफी की बात तो जांच कर कार्यवाही की जायेगी।

Comments