योगी सरकार की पुलिस की कार्य प्रणाली से आम जनमानस परेशान

योगी सरकार की पुलिस की कार्य  प्रणाली से आम जनमानस परेशान

गोन्डा

पवन कुमार द्विवेदी  

                  यूपी की भाजपा की सरकार जहाँ क्राइम रेट को कम करने का प्रयास कर रही है ।लेकिन उसके इस प्रयास को उसकी ही पुलिस बढ़ाने का काम कर रही है ।इससे पहले समाजवादी सरकार पर गुंडई व दबंगई का आरोप लगता है

वही पुलिस में उसमे शामिल रहती थी ।तब आम जनमानस ने आजिज होकर भाजपा को वोट दिया था कि कम से कम गुंडई से निजात मिलेगी लोगो को न्याय मिलेगा आम जन मानस की बात सुनी जाएगी ।घूसखोरी पर लागम लगेगी। जब मैंने और मेरी संवाददाता की टीम ने इसकी जानकारी ली तो यह तथ्य सामने आया कि घूसखोरी बढ़ी है ।

वही अधिकारी व कर्मचारी निरंकुश हो गए है ।वही  गोन्डा जनपद की पुलिस के तो खेल निराले है वो तो अपराधियो को पकड़ना तो दौर अपराधियो को थाने में इज्जत दी जाती है ।वही सरीफो को वेइज्जत किया जाता और ज्यादा बोलने पर मुकदमा लिखने की धमकी देकर जबरन सुलह कराकर वापस भेज दिया जा रहा वही कोई पत्रकार इस बारे में प्रश्न पूछने का प्रयास करता है

तो उससे कहा जाता कि जाओ योगी से प्रश्न पूछो उनको अपने वोट दिया है और उनकी तारीफों के पूल आप लोग बांध रहे थे ।यहाँ हमारा राज चलता है ।हम पुलिस की नौकरी कमाने के लिए की न कि दुश्मनी लेने के लिए ।इस तरह आम जन मानस से पुलिस जबाब दे रही ।

वही योगी सरकार का यह कहना कि अपराधियो की जगह जेल या गोली है ।उस पर उनकी पुलिस पूरी तरह पानी फेर रहे है ।अगर मेरी बात पर यकीन ना हो तो गुप्त सूत्रों से जांच करवा लें दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा ।वर्तमान में पुलिस ने घूस का दाम और बढ़ा दिया है ।

जो दाम दे उसी का होता है काम । इससे साफ लग रहा है कि पुलिस ही योगी सरकार को सर्मसार करने में तुली हुई है ।अगर शीघ्र ही योगी जी ने कुछ बड़े फैसले नही लिए तो 2019 की चुनाव बचा पाना मुश्किल हो सकता है ।कानून व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त करना ही होगा ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments