पक्की नाली निर्माण में लाल बोल्डर की जोड़ाई से स्थानियों ने टीकाऊपन में जताया संदेह ​​​​​​​

नाली निर्माण स्थल पर योजना बोर्ड नहीं लगाना सरकारी निर्देशों की अवहेलना: ग्रामीण

 
पक्की नाली निर्माण में लाल बोल्डर की जोड़ाई से स्थानियों ने टीकाऊपन में जताया संदेह

स्वतंत्र प्रभात 

झारखण्ड:सरकारी निर्देशों के बावजूद पक्की नाली के निर्माण में लाल बोल्डर का उपयोग से नाली की टीकाऊपन में संदेह दिख रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक पुल, पुलिया, तालाब घाटों, पक्की नालियों आदि के निर्माण में स्थानीय लाल बोल्डर का उपयोग निषेध है। कहा जाता है, लाल बोल्डरों में मिट्टी की मिलावट तथा अन्य कई तकनीकी कारणों से सरकारी योजनाओं में उपयोग की मनाही होने के बावजूद पाकुड़िया पंचायत के शहरपुर ग्राम में पाकुड़िया पाकुड़ पीडब्ल्यूडी पथ के निकट पक्की नाली का निर्माण में लगा कर सरकारी निर्देशों की अवहेलना होती दिख रही है। नाली निर्माण में बड़े पैमाने पर प्राक्कलन की अनदेखी करते हुए बोल्डरों

की जोड़ाई में आठ भाग का मिक्चर बना कर जोड़ाई की गयी। नाली निर्माण में नींव की ढ़लाई कम होने की बात तथा रेसियो में गड़बड़ी हुई है। योजना बोर्ड नहीं लगाने से योजना किस मद की है ग्रामीणों को जानकारी नहीं मिल पा रही है। विभिन्न सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कहा जा रहा है कि उक्त योजना सांसद निधि से कराई जा रही है। इस बाबत कनीय अभियंता से पूछने पर उन्होंने कहा कि योजना स्थल कहां है हमें जानकारी नहीं है लेकिन योजना की जांच की जायेगी।

   

FROM AROUND THE WEB