मेहरमा में मनरेगा से बने सिंचाई कूप में बड़ा घोटाला मामला चल रहा लंबित

 

मेहरमा में मनरेगा से बने सिंचाई कूप में बड़ा घोटाला मामला चल रहा लंबित 

मेहरमा/ गोड्डा

मेहरमा प्रखंड के सुखारी पंचायत के मेघचातर गांव मे दो अलग-अलग जगह सिंचाई कूप का बड़ा घोटाला का बताया जा रहा है|  मेघचातर गांव के संजय हेम्ब्रम पिता लखन हेम्ब्रम के जमीन पर जिसका जमाबंदी नंबर 30 एवं दाग नंबर 289 एवं राशन हेम्ब्रम पिता प्रधान हेम्ब्रम के जमीन पर जिसका जमाबंदी नंबर 23 एवं दाग नंबर 365 है दोनों आदिवासी समुदाय के जमीन पर सिंचाई कूप निर्माण कार्य की स्वीकृति की गई थी।

सुखारी पंचायत के पूर्व मुखिया गुलनाज पति शेख साबिर अली के द्वारा वर्ष 2010-11 में योजना का निर्माण कार्य करवाया गया था। लेकिन योजना संख्या 23/10 -11 एवं 38/10-11 के बारे में ग्रामीण शाह आलम बताते हैं कि उक्त जमीन पर सिंचाई कूप का निर्माण कार्य ही नहीं कराया गया है। और बिना निर्माण कार्य के ही योजना की राशि की निकासी कर ली गई है।

वहीं ग्रामीण शाह आलम बताते हैं कि मैंने इस योजना के बारे में कई बार लिखित शिकायत भी दी है| इसकी शिकायत पूर्व में संबंधित विभाग को लिखित आवेदन भी दिया गया था। जिसके उपरांत डीडीसी कार्यालय से जांच भी कराई गई थी। लेकिन अब तक कार्यवाही नहीं की गई है|वही ग्रामीण शाह आलम के द्वारा गोड्डा उपायुक्त को लिखित आवेदन देकर मामले पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है| आखिरकार सवाल यह उठता है कि इस घोटाले पर कार्रवाई क्यों नहीं हो पा रही है

FROM AROUND THE WEB