बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा पत्रकार से की गई अभद्रता व धमकी देने से आहत पत्रकारों ने उपजिलाधिकारी को दिया ज्ञापन

 
बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा पत्रकार से की गई अभद्रता व धमकी देने से आहत पत्रकारों ने  उपजिलाधिकारी को दिया ज्ञापन 

स्वतंत्र प्रभात-

पहला सीतापुर जनपद सीतापुर की तहसील बिसवां में बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा पत्रकार से की गयी अभद्रता व धमकी देने से आहत पत्रकारों ने बिसवां उपजिलाधिकारी पीएल मौर्य को एक ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की है। और बाल विकास परियोजना  अधिकारी द्वारा पत्रकार को फर्जी मुकदमा लिखाकर जेल भेजने की धमकी दिए जाने के बाद शनिवार को बिसवां के पत्रकार लामबंद हो गए। और अपनी मांगो के सम्बन्ध में पत्र के माध्यम से उपजिलाधिकारी को सम्पूर्ण प्रकरण से अवगत कराया। दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि 16 जुलाई को ग्राम पंचायत क्योंटी बादुल्ला में आँगनबाड़ी कार्यकर्ती द्वारा घुनी हुई दाल वितरित की गयी। जिस सम्बन्ध में पत्रकार आजाद अंसारी द्वारा सुपरवाईजर को अवगत कराया गया। तो सुपरवाईजर ने दाल घुनी होने की बात स्वीकार की। तथा खबर के प्रकाशन व लाभार्थियों द्वारा जनसुनवाई पोर्टल पर की गयी। जिसकी शिकायत के सम्बन्ध में जब बाल विकास परियोजना अधिकारी जांच करने गाँव पहुंची। तो वहां पर शिकायतकर्ताओं से

जांच न कर अन्य लाभार्थियों से बयान लेकर मामले की लीपापोती में लग गयी। एवं अपने दो वर्ष के पत्रकारिता के अनुभव का रौब झाड़ते हुए पत्रकार आजाद अंसारी पर मुकदमा लिखाकर जेल भिजवाने की धमकी तक दे डाली ।और पत्रकारों ने मांग की है कि अधिकारी द्वारा पत्रकार संग की गयी अभद्रता व तानाशाही रवैये के विरुद्ध कार्यवाही की जाए व जांच के दौरान वास्तविक लाभार्थियों के बयान न लेकर अन्य लाभार्थियों के बयान लेकर फर्जी आख्या लगाकर उच्चाधिकरियों को गुमराह करने के मामले में कार्यवाही किये जाने की व की गयी शिकायत की जांच अन्य विभाग के अधिकारीयों से कराये जाने की मांग की गयी है । इस दौरान वहां पर पत्रकार श्रमजीवी संघ तहसील अध्यक्ष  राम चन्द्र वर्मा , मो अय्यूब खां , प्रदीप तिवारी , नैय्यर शाकिब , बिलाल खां ,शाबेज खां , मो आरिफ खां , अतुल त्रिवेदी , मनोज पासवान , ए के विश्वकर्मा , पियूष शर्मा आदि सहित अन्य पत्रकार साथीगण  मौजूद रहे |

   

FROM AROUND THE WEB