डीएम का निर्देश गांवों में हो रही फॉगिंग,सैनिटीजेशन स्वच्छता कार्य

कुशीनगर,उप्र।जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम के निर्देश के क्रम में शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों मे कोरोना संक्रमण से बचाव व कोविड-19 नियंत्रण अभियान के अंतर्गत व्यापक स्तर पर साफ-सफाई एवं सेनेटाइजेशन का कार्य प्रत्येक दिन कराया जा रहा है। अधि0 अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत व जिला पंचायत राज अधिकारी के निर्देशन में सड़क के किनारे ग्राम पंचायतों में कूड़े-कचरे
 
डीएम का निर्देश गांवों में हो रही फॉगिंग,सैनिटीजेशन स्वच्छता कार्य

कुशीनगर,उप्र।जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम के निर्देश के क्रम में शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों मे कोरोना संक्रमण से बचाव व कोविड-19 नियंत्रण अभियान के अंतर्गत व्यापक स्तर पर साफ-सफाई एवं सेनेटाइजेशन का कार्य प्रत्येक दिन कराया जा रहा है।

अधि0 अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत व जिला पंचायत राज अधिकारी के निर्देशन में सड़क के किनारे ग्राम पंचायतों में कूड़े-कचरे के निस्तारण सहित जनपद के विभिन्न ग्रामों एवं सार्वजनिक स्थलों पर साफ-सफाई एवं सैनिटाइजेशन/फॉगिंग/ का कार्य किया जा रहा है।

 

सीडीओ के आदेश पर ग्राविअ के साथ प्रधान पर गमन का मुकदमा दर्ज

सेवरही,कुशीनगर।सेवरही विकासखंड के अंतर्गत ग्राम गड़हीया चिंतामन के प्रधान वेदांती देवी पत्नी रामरूप यादव व ग्राम विकास अधिकारी राजेश सिंह के ऊपर सीडीओ कुशीनगर के आदेश पर तरया सुजान थाने में एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। बताते चले की यह एफआईआर सरकारी धनराशि गमन के मामले में किया गया है। गांव के ही बीजेपी नेता अखिलेश्वर शाही ने हाईकोर्ट प्रयागराज में प्रधान द्वारा कराए गए विकास कार्यों की जांच हेतू रिट दाखिल किए थे। हाईकोर्ट प्रयागराज के द्वारा जांच का आदेश दे दिया गया था।

फिर सीडीओ कुशीनगर के निर्देशन में जिला पंचायती राज अधिकारी राघवेंद्र द्विवेदी द्वारा यह जांच संपन किया गया । जांच में प्रधान वेदांती देवी व ग्राम विकास अधिकारी तत्कालीन सचिव राजेश सिंह की मिलीभगत से सरकारी धनराशि को गमन कर लिया गया था। जांच में इन दोनो लोगो की चोरी पाई गई । उसके बाद तत्काल इनलोगो के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया। व गमन किए गए धनराशि को रिकवर करने का भी आदेश हुआ।

जहां सरकार गावों में अनेक तरह के योजनाओं को लाती है की गावों में विकास हो सके । वही ग्राम प्रधान व सचिव एव उच्च अधिकारियों की मिलीभगत से विकास नहीं हो पाता है। सरकारी धनराशि का बंदरबाट किया जाता है। अखिलेश्वर शाही ने मीडिया से रूबरू होते हुए बताया की इस जांच के बाद प्रधान के आय व्यय की जांच आयकर विभाग के द्वारा करवाने जा रहा हूं। ताकि समस्त जनता को पता चल सके की प्रधान व कुछ अधिकारियों की मिलीभगत से सरकारी पैसे किस तरह से गमन करते है।

कोविद-19 में महामारी में मृत्यु अनुसूचित जाति सदस्यों को सरकार करेगी मदद

कुशीनगर,उप्र। जिला समाज कल्याण अधिकारी रश्मि मिश्रा ने जनपद के नगरीय/ग्रामीण क्षेत्र के अनुसूचित जाति के परिवारों को अवगत कराया है कि राष्ट्रीय अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम लि0,(अनुविनि) के माध्यम से संचालित आशा योजना के अन्तर्गत कोविड-19 महामारी में अनुसूचित जाति के ऐसे परिवार जिनके मुख्य कमाई करने वाले सदस्य की मृत्यु हो गयी है तथा परिवार की वार्षिक आय रु 03 लाख तक है को नव संचालित “आशा योजना” के अन्तर्गत लाभान्वित कराये जाने हेतु मृतको की सूचना आगामी 18 जून तक मांगी गयी है।

उन्होने बताया कि अनुविनि योजना के अन्तर्गत रू0 पाँच लाख तक के ऋण में 20 प्रतिशत अनुदान (रू0 1.00 लाख तक) के रूप में होगा।इसकी सूचना अगले 18 जून 2021 तक निम्न प्रपत्रों जैसे- लाभार्थी अनुसूचित जाति का हो, परिवार की वार्षिक आय अधिकतम रू० तीन लाख हो, परिवार का मुख्य कमाई करने वाले सदस्य की मृत्यु कोरोना महामारी से हुयी हो, मृतक की आयु मृत्यु के समय 18 से 60 वर्ष की बीच रही हो, कोविड -19 से मृत्यु का प्रमाण पत्र , ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थी अपने विकास खण्ड के खण्ड विकास अधिकारी कार्यालय एवं नगरपालिका/नगरपंचायत के लाभार्थी सम्बन्धित अधिशासी अधिकारी कार्यालय तथा जिला प्रबन्धक, उ0 प्र0 अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम लि0, विकास भवन रविन्द्र नगर धूस कुशीनगर मे कार्यालय दिवस में जमा/जानकारी प्राप्त कर सकते है।

 

FROM AROUND THE WEB