डीएम की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में हुई कानून व्यवस्था की बैठक

जिससे शान्ति व्यवस्था बनी रहे।उन्होने सभी उपजिलाधिकारियों व पुलिस क्षेत्राधिकारियों को इस
 
जिससे शान्ति व्यवस्था बनी रहे।उन्होने सभी उपजिलाधिकारियों व पुलिस क्षेत्राधिकारियों को इस

 स्वतंत्र प्रभात 
 

महोबा । जिलाधिकारी सत्येन्द्र कुमार की अध्यक्षता एवं पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह व अपर जिलाधिकारी आर0एस0वर्मा की उपस्थिति में कानून व्यवस्था की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई।

     बैठक में जिलाधिकारी ने जनपद में होने वाले अपराधोें के निस्तारण आदि की समीक्षा की तथा सम्बन्धित को निर्देशित किया कि अपराधों को अपराध घटित होने के पूर्व समस्त थानाध्यक्ष अपने-अपने थानों के क्षेत्रान्तर्गत सर्तक दृृष्टि बनाये रखते हुए अपराधिक प्रवृृत्ति के लोगों पर अंकुश लगाया जाये, जिससे शान्ति व्यवस्था बनी रहे।उन्होने सभी उपजिलाधिकारियों व पुलिस क्षेत्राधिकारियों को इस


 आशय से निर्देशित करते हुए कहा कि वे किसी भी प्रकार के दबाव में न आकर बिना किसी  भय के निष्पक्षता पूर्ण कार्य करे ताकि जनसामान्य को आसानी से न्याय मिल सके।उन्होने कहा कि ई-कोर्ट फीडिंग व्यवस्था दुरूस्त करायी जाये तथा पास्को एक्ट के तहत जनपद में कुल पेंडिंग 304 व बहस हेतु लगे 12 केसों एवं इनमें 05 वर्ष से अधिक समय के 09 केसों सहित 01 वर्ष से अधिक समय से लंबित सभी केसों की सूची


 विवरण सहित उपलब्ध कराने के निर्देश सभी अभियोजन अधिकारियों को दिए।इसी क्रम में उन्होनें एस0डी0एम0 कोर्टों की समीक्षा की और सभी उपजिलाधिकारियों  को 116 की कार्यवाही में सुधार करने के निर्देश दिए।बैठक में वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी ने कहा कि न्यायालय से निर्गत सम्मनों को समय से तामील कराया जाए ताकि न्यायिक प्रक्रिया तुरंत शुरू की जा सके।


       बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक आर0के0 गौतम, उपजिलाधिकारी चरखारी रमेश कुमार, उपजिलाधिकारी कुलपहाड़ राकेश कुमार एवं शासकीय अधिवक्ता सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

FROM AROUND THE WEB