भ्रष्टाचार चरम पर छुट्टी के दिन भी होती रही धान की खरीद

जिलाधिकारी ने मंगलवार को सभी केंद्र प्रभारियों के साथ बैठक के दौरान धान खरीद को लेकर दी थी चेतावनी
 
भ्रष्टाचार चरम पर छुट्टी के दिन भी होती रही धान की खरीद
कर्मचारी द्वारा भ्रष्टाचार कर बिचौलियों के धान की खरीद की जा रही है

अंबेडकर नगर। मुख्यमंत्री किसानों के हित में लाख कोशिशें कर लें लेकिन इसके बावजूद भी उनके ही अधिकारी कर्मचारी द्वारा भ्रष्टाचार कर बिचौलियों के धान की खरीद की जा रही है। ताजा मामला जनपद के सहकारी संघ कटेहरी का है जहां पर सरकारी छुट्टी होने के बावजूद भी केंद्र प्रभारी दिवाकर द्वारा कुछ लोगो के धान की खरीद की जाती रही। केंद्र प्रभारी से छुट्टी के दिन धान तौल के बारे में पूछे जाने पर बताया कुछ अपने लोगों के लिए ऐसा कार्य करना पड़ता है।

जबकि बिचौलिया केंद्र प्रभारी से मिले हुए हैं। लोगों द्वारा सुनने में आया है कि प्रति कुंटल धान की खरीद पर 100 से ढाई सौ रुपए बिचौलियों द्वारा केंद्र प्रभारी को दे दिया जाता हैं जिसके चलते सभी कमियों को दरकिनार करते हुए केंद्र प्रभारियों द्वारा धान की खरीद कर ली जाती है। बड़ी बात यह भी है कि बिचौलिये कुछ अपने चहेते किसानों का डाटा धान बेचने के लिए ऑनलाइन करा दिये है। और उन्हीं का सहारा लेकर धान को केंद्रों पर बेचा जा रहा है।

केंद्र प्रभारियों से विचौलिया अपनी सेटिंग कर धान की बिक्री तेजी से कर रहे है। वास्तव में जो सही किसान हैं उन्हें धान बेचने के लिए दो- दो महीनों का समय केंद्र प्रभारियों द्वारा दिया जा रहा है।

इस वाबत जिला विपणन अधिकारी ( डी एफ एम ओ) से टेलोफोनिक वार्ता में बताया गया आज सार्बजनिक छुट्टी है केंद्र प्रभारी कैसे आज धान की खरीद कर रहा जांचकर कारवाही की जाएगी। जबकि जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन ने मंगलवार की शाम को सभी केंद्र प्रभारियों के साथ बैठक करके यह चेतावनी दी थी धान खरीद में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी बरदाश्त नहीं कि जाएगी।

FROM AROUND THE WEB