एंबुलेंस नहीं मिला तो बेटे ने कचरादान में लेटाकर मां को पहुंचाया अस्पताल

 
कचरेदान वाले ठेले पर मां को इलाज के लिए ले जाता बेटा

रिपोर्ट! आकाश कश्यप

ठूठीबारी/महराजगंज। भारत नेपाल सीमा पर स्थित ठूठीबारी के सड़कहवां निवासी राजू केवट पुत्र जवाहिर की मां विगत कई दिनों से बीमार चल रही थी, शुक्रवार को अचानक तबीयत बिगड़ता देख राजू ने एंबुलेंस सेवा लेने का प्रयास किया लेकिन मौके पर सेवा उपलब्ध नहीं होता देख बेटे ने मां की जान बचाने के लिए आनन-फानन में कस्बे में रखा कचरे बटोरने वाला कचरेदान को ही सहारा बनाकर अपनी मां को उक्त कचरादान पर लेटाकर अस्पताल पहुंचाया। मौके पर दिल पिघलने वाली तस्वीर को देखकर लोगों ने स्वास्थ्य विभाग के बदहाली को खूब कोसा।


जानकारी के मुताबिक उक्त गांव निवासी राजू की मां ज्योति देवी का तबीयत विगत काफी दिनों से खराब चल रहा है, शुक्रवार को अचानक तबीयत बिगड़ता देख राजू ने एम्बुलेंस की सुविधा न मिलने पर कस्बे में रखी गई चार पहिया कचरेदान कोई सहारा बना लिया और उक्त कचरेदान में लेटाकर ही अपनी मां की उपचार के लिए अस्पताल ले गया। एक तरफ जहां योगी सरकार यूपी में स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए प्रयासरत है तो वहीं दूसरी तरफ स्वस्थ विभाग की लापरवाहियों के कारण सभी सुविधाएं कागजों में ही सिमट कर रह जा रही है।


पीड़ित राजू केवट ने बताया कि मेरी मां ज्योति देवी विगत दिनों से काफी बीमार चल रही है, वहीं शुक्रवार को तबियत बिगड़ते देख एंबुलेंस सेवा के लिए प्रयास किया लेकिन सुविधा नहीं मिल पाने के कारण बीमार मां को अस्पताल पहुंचाने के लिए कस्बे में रखा कचरेदान को ही सहारा बनाना पड़ा।

   

FROM AROUND THE WEB