आज से प्रधानों के घर बनेगा आयुष्मान कार्ड ।

16 सितम्बर से 3० सितम्बर तक चलेगा अभियान ।
 
आज से प्रधानों के घर बनेगा आयुष्मान कार्ड ।
इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग का पंचायत विभाग  कर रहा है सहयोग ।

गौरव पूरी (रिपोर्टर)


भदोही।

जिले के 546 ग्राम प्रधानों के आवास पर 16 सितंबर से 3०  सितंबर तक आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा। इसकी जानकारी बुधवार को जिला पंचायत राज अधिकारी बालेश ने दी। जिला पंचायत राज अधिकारी बालेश ने बुधवार को 546 ग्राम प्रधानों को पत्र जारी किया कि अब प्रधान के आवास भी आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा। इस अभियान में किसी भी तरह की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस अभियान के दौरान किसी को छुटटी नहीं मिलेगी और कोविड के नियमों का पूरा ख्याल रखें। जिससे किसी भी प्रकार की कोई समस्या ना उत्पन्न हो।

इस अभियान भी पंचायत विभाग स्वास्थ्य विभाग का पूर्ण सहयोग कर रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर संतोष कुमार चक ने बताया कि इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग का पंचायत विभाग सहयोग कर रहा है। जो एक सराहनीय कदम है। विभाग की ओर से भी 5 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र 15 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र समेत 53 उपस्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्साधिकारी को पत्र के माध्यम से अवगत कराया जा चुका है। इन केन्द्रों पर भी आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा।

इस केन्द्रों व पंचायतों की देखरेख के लिए एक नोडल अधिकारी की भी नियुक्ति कर दी गई। जो अपने- अपने क्षेत्र में आयुष्मान कार्ड बनाने की गति को तेज करेगे। जिला सूचना प्रबन्धक आशीष ने बताया कि सरकार की मंशा के अनुरूप की कोई घर आयुष्मान कार्ड से वंचित न रहे। इसके लिए विभाग में कार्यरत 1326 आशाओं को  जिम्मेदारी दी गई है कि अपने-अपने क्षेत्र के लोगों को केन्द्र या नजदीक में प्रधान के घर ले जाकर आयुष्मान कार्ड बनाने का काम करेगी।

इसलिए सभी जिनके पास प्रधानमंत्री पत्र व आधार कार्ड के साथ प्रधान के निवास व केन्द्र पर जाकर कार्ड बनावें जिससे कोई भी स्वास्थ्य की सुविधाओं से वंचित न रहे। उन्होनें ने बताया कि कोरोना जैसे महामारी से लडऩे के लिए कभी-कभी अस्पताल में भी भर्ती होना पड़ता है। इसके साथ ही निजी चिकित्सालयों में उपचार कराने के लिए काफी रूपये खर्च होते है। यदि हर व्यक्ति के पास आयुष्मान कार्ड होता है तो उसे कोरोना से उपचाराधीन होने पर काफी राहत होगी उसके लिए यह कार्ड एक बूंटी का काम करेगी। इसके लिए जनपद में 7 सरकारी अस्पतालों व 25 निजी अस्पताल सम्बद्ध है।

FROM AROUND THE WEB