एसएसपी डीआईजी पहुंचे मैलहन रामलीला का किया अवलोकन।

पदाधिकारी श्याम जी दुबे , पूर्व प्रधान उमाकांत दुबे, शिवाजी दुबे, सुधांशु आदि ने उनका स्वागत करते हुए
 
 पदाधिकारी श्याम जी दुबे , पूर्व प्रधान उमाकांत दुबे, शिवाजी दुबे, सुधांशु आदि ने उनका स्वागत करते हुए

स्वतंत्र प्रभात


फूलपुर, प्रयागराज


मंगलवार की रात 10 बजे फूलपुर के मैलहन गांव में चल रही श्री रामलीला का मंचन देखने एसएसपी, डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी अचानक पहुंचे। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष घनश्याम दुबे सहित कमेटी के पदाधिकारी श्याम जी दुबे , पूर्व प्रधान उमाकांत दुबे, शिवाजी दुबे, सुधांशु आदि ने उनका स्वागत करते हुए

 वर्ष 1935 से संचालित रामलीला का मंचन देखने का आग्रह किया। मैलहन की प्राचीन रामलीला के पात्रों का पाठ देखकर वे  बहुत प्रभावित हुए। सीता हरण से पूर्व के मार्मिक पाठों से प्रभावित होकर मुख्य अतिथि ने प्राचीन रामलीला के मंचन करने वाले पात्रों से लेकर व्यास गद्दी पर बैठे लोगों द्वारा रामायण पाठ किए जाने की जमकर तारीफ की। इस अवसर पर जमीन पर बैठे शांतिपूर्ण ढंग से दर्शकों के अनुशासन की भी सराहना की ।

इस अवसर पर उन्होंने कहा की 1935 से लगातार चल रही इस रामलीला अपने आप में पूरे जनपद में एक उदाहरण है ।उन्हें खुद ही आश्चर्य हो रहा है। यहां के लोग रामलीला के मंचन से उसमें अभिनीत दृश्यों एवं पात्रों से शिक्षा लेनी चाहिए और उसका व्यवहार रूप में पालन करना चाहिए तभी रामलीला की सार्थकता होगी। क्योंकि रामलीला कोई नौटंकी की नाच नहीं होती है उसका मकसद ही गांव गांव में करने का  होता है कि लोग राम के बताए हुए  रास्ते पर चलने का अनुसरण करें।


 पुलिस अधीक्षक गंगा पार अभिषेक अग्रवाल तथा सीओ फूलपुर रामसागर प्रभारी निरीक्षक राजकिशोर भी मौजूद रहे। अधिकारियों ने फूलपुर थाने के स्टाफ को गांव से लेकर मंचन स्थान तक शांति व्यवस्था बनाए रखने के कड़े निर्देश दिए। सामने आ रहे बारावफात को सरकारी गाइडलाइन के आधार पर  ही मनाने की अपील की।

FROM AROUND THE WEB