ये मानता हूँ कि मै दौलत नहीं कमा पाया

मगर तुम्हारा हर एक गम खरीद सकता हूं"
 
ये मानता हूँ कि मै दौलत नहीं कमा पाया
इफ्को मुक्तांगन में हुआ अखिल भारतीय कवि सम्मेलन
प्रयागराज

जख्म मिल जाय तो मरहम खरीद सकता हूं।
प्यास बुझ जाए तो सबनम खरीद सकता हूं
मानता हूँ कि मै दौलत नहीं कमा पाया
मगर तुम्हारा हर एक गम खरीद सकता हूं"।

इफको में साहित्य को समर्पित एक शाम  कार्यक्रम में आयोजित राष्ट्रीय कवि सम्मेलन में प्रेम के सुविख्यात कवि डॉक्टर  विष्णु कांत सक्सेना  ने जब यह लाइनें पेश किए तो तालियों की गड़गड़ाहट से मुक्तांगन गूज उठा।

इफको फूलपुर के मुक्तांगन परिसर में अमृत महोत्सव की श्रृंखला में इफको द्वारा नैनो उर्वरकों के प्रथम एक करोड़ बोतल के उत्पादन पर आयोजित ओज, श्रृंगार एवं हास्य रस का अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन । साहित्य को समर्पित एक शाम "।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. उदय शंकर अवस्थी एंव विशिष्ट अतिथि श्रीमती रेखा अवस्थी थी ।

ये मानता हूँ कि मै दौलत नहीं कमा पाया

मुक्ताँगन में पधारने पर प्रबंध निदेशक का शानदार तरीके से ढोल नगाड़े के साथ  स्वागत किया गया।इफको इंप्लाइज संघ के अध्यक्ष पंकज पांडे व महामंत्री विनय कुमार यादव तथा ऑफिसर एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय मिश्रा एवं महामंत्री स्वयम् प्रकाश के द्वारा 51 किलो की माला पहनाकर उनका सम्मान किया गया किया गया । कार्यक्रम का शुभारंभ इफको के प्रबंध निदेशक डॉ. उदय शंकर अवस्थी एंव इकाई के प्रमुख संजय कुदेसिया द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।

कार्यक्रम वरिष्ठ कवि एवं गीतकार डॉ. विष्णु सक्सेना ( हाथरस, उत्तर प्रदेश) की अध्यक्षता में हुआ तथा मंच का संचालन वीर रस के जाने माने कवि श्री शशिकांत यादव ( देवास, मध्य प्रदेश) ने किया। सर्वप्रथम मखदूम फूलपुरी ( प्रयागराज, उत्तर प्रदेश) ने कृषि क्रांति एवं नैनो उर्वरक यूरिया पर अपनी रचना सुनाकर वाहा वाही लूटी।तत्पश्चात हेमंत पाण्डेय (कानपुर, उत्तर प्रदेश) ने हास्य कविता से सबका ध्यान आकर्षित किया।

उसके बाद अंकिता सिंह (नई दिल्ली) ने शृंगार रस एवं प्रेम रस की कविता सुनायी।फिर युवा गीतकार गजेंद्र प्रियांशु (बारंबाकी,उत्तर प्रदेश) ने अपनी कविता और गीत सुनाकर लोगों का मनोरंजन किया।अनिल चौबे (वाराणसी, उत्तर प्रदेश) ने भी अपने हास्य रस की कविताओं से दर्शकों का ध्यान आकर्षित किया। शशिकांत यादव (देवास,मध्य प्रदेश) ने भी वीर रस की कविताओं से दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया।अंत में कवि सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे डॉ. विष्णु सक्सेना (हाथरस, उत्तर प्रदेश) ने प्रेम की कविताओं से लोगों को ध्यान आकर्षित किया।

इफको ऑफिसर एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय कुमार मिश्र व महामंत्री स्वयं प्रकाश एंव इफको कर्मचारी संघ के अध्यक्ष  पंकज पाण्डेय एंव महामंत्री विनय यादव तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी कार्यक्रम में मौजूद रहे।सभी ने कवि सम्मेलन आयोजन का आनन्द उठाया।

 बड़ी संख्या में इफको परिवार के लोग कार्यक्रम में उपस्थित रहे।पूरे कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन  संतोष कुमार सिंह , उपमहाप्रबंधक ( वित्त एवं लेखा) ने बड़े ही विद्वता एवं सालीखे से किया जिसकी प्रसंशा कबियो द्वारा  भी किया गया।इस अवसर पर इफको के समस्त अधिकारी कर्मचारी एवं उनके परिवार के लोग उपस्थित होकर कार्यक्रम का लुफ्त उठाया।

FROM AROUND THE WEB