सडकों के लेपन व मरम्मत कार्यो का मुख्यमंत्री ने किया वर्चुअल लोकार्पण

 
स्वतंत्र प्रभात

स्वतंत्र प्रभात 
 

 देवरिया  15 सितम्बर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला पंचायत देवरिया के हाटमिक्स पद्धति से निर्मित 4 सड़कों का वर्चुअल लोकार्पण एवं पी०एम०जी०एस०वाई-3 (बैच के 14 ग्रामीण मार्गों का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर राज्य मंत्री पशुधन मत्स्य एवं दुग्ध विकास विभाग उ०प्र० जय प्रकाश निषाद, विधायक सलेमपुर काली प्रसाद, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत ज्ञानधन सिंह एवं अधिशासी अभियन्ता, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग हरेंद्र सिंह उपस्थित रहे।

      जिला पंचायत की लोकार्पित 4 सडकों में सदर ब्लाक अन्तर्गत बैकुण्ठपुर मार्ग से ग्राम मालीवारी में बाबूलाल यादव के आवास तक लेपन कार्य 550 मीटर की लागत 6.35 लाख, ग्राम चौमुखा में 700 मीटर लेपन व मरम्मत कार्य 9.73 लाख, ग्राम पंचायत सुविखर से पिपरा चन्द्रभान तक एक किलोमीटर लागत 11.59 लाख से लेपन व मरम्मत कार्य तथा रुद्रपुर विकास खण्ड अन्तर्गत ग्राम मल्लहपुरवा सम्पर्क मार्ग 960 मीटर लागत 11.66 लाख से लेपन व मरम्मत कार्य सम्पन्न किया जाना लोकार्पित में सम्मिलित है। इस प्रकार जिला पंचायत की कुल 4 सडके 3.21 किलोमीटर कुल लागत 39.33 लाख की लोकार्पित की गयी है।

      मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के तहत 14 कार्य परियोजनायें लम्बाई 75.93 किलोमीटर लागत 49.56 करोड की लागत से शिलान्यास/लोकार्पित में सम्मिलित रही है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-3 बैच-1 के अन्तर्गत जनपद में 14 मार्ग स्वीकृत है, जिसकी कुल लम्बाई 80.880 कि०मी० है, जिसकी लागत मुु० 4826.89 लाख हैं। 13 मार्गों पर निर्माण कार्य कराया जा रहा है, 1 मार्ग पर पेन्टिंग का कार्य किया जाना है। वित्तीय वर्ष 2020-21 के अन्तर्गत जनपद में 1 मार्ग का नवीनीकरण कार्य स्वीकृत हुआ था, जिसकी लम्बाई 0.800 कि०मी० है तथा कुल लागत मु० 9.17 लाख है। इस मार्ग का नवीनीकरण कार्य पूर्ण करा लिया गया है।

     

 असंगठित कामगारों के आर्थिक सहयोग के लिए ई-श्रम पंजीकरण का हुआ शुभारंभ देवरिया 15 सितम्बर। असंगठित कामगारों हेतु लाभदायक योजनाओं एवं आर्थिक सहयोग हेतु ई-श्रम पंजीकरण का शुभारंभ किया गया है, जिसके माध्यम से वर्तमान में सभी असंगठित कामगारों को पंजीकृत कर 2 लाख कवर का बीमा निःशुल्क प्रदान किया जा रहा है। साथ ही साथ भविष्य में आर्थिक सहायता हेतु विभिन्न योजनाओ से लाभान्वित किया जाएगा।

       जिला समन्वयक गौरव पांडेय ने बताया कि ई-श्रम पंजीकरण सभी असंगठित कामगारों के लिए बिल्कुल निःशुल्क है जिसमे सभी प्रकार के कामगार पात्र हैं। जिला समन्वयक ने ये भी बताया कि श्रमिकों के पंजीकरण हेतु सभी सीएससी केन्द्रों तथा आधार सेवा केन्द्रों पर शिविर का आयोजन किया गया है, जिससे कि श्रमिक किसी भी नजदीकी जन सेवा केन्द्र अथवा जिला मुख्यालय पर स्थित आधार सेवा केन्द्र पर भौतिक रूप से उपस्थित

हो अपना पंजीकरण करा सकते है एवं पंजीकरण के उपरांत अपना कार्ड तत्काल प्राप्त कर सकते हैं। जिला समन्वयक ने सभी श्रमिकों से निवेदन करते हुए बताया कि शिविर में भारी संख्या में श्रमिक आ रहे हैं और जिन्होंने अभी पंजीकरण नही कराया है वो तत्काल अपना पंजीकरण करा अपना कार्ड प्राप्त करें एवं सरकार की लाभकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करें।

        

FROM AROUND THE WEB