स्वतंत्र प्रभात-आम आदमी पार्टी ने दिया मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन

 

विदिशा से शोभित जैन की रिपोर्ट :

किसान कर्ज माफी,बिजली दर आधी एयर रोजगार की मांग के साथ आम आदमी पार्टी ने दिया मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन

मांग न माने जाने पर 26 मई से अनशन पर बैठेगे आप प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल

मध्य प्रदेश में बदहाली को देखते हुए आम आदमी पार्टी ने आर पार की लड़ाई लड़ने का फैसला कर लिया है और 3 प्रमुख मुद्दे किसान कर्ज माफी, महँगी बिजली और रोजगार के लिए निर्णायक आन्दोलन का ऐलान किया है।

इस के चलते आज आप द्वारा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया और कहाॅं गया कि वर्तमान में मध्य प्रदेश कि हालत बहुत दयनीय है, आम आदमी, किसान, युवा सभी बहुत परेशान है ।

किसान बदहाली
हमारा मध्य प्रदेश एक कृषि आधारित प्रदेश है व प्रदेश की अर्थव्यवस्था भी कृषि पर ही निर्भर है।

विगत तीन वर्षो से लगातार प्रदेष का किसान कम बारिष,अति वृष्टि, फसलों के कम दाम, समय पर उचित बीज न मिलने के कारण कर्ज के बोझ से दबा जा रहा है। हालात इतने बुरे है कि आज किसान लहसू और टमाटर एक रूपए प्रति किलो के दाम पर बेचने को मजबूर है। कर्ज से पांच किसान रोज प्रदेश में आत्महत्या कर रहे है,
आप ने पिछले चुनाव में किसानों के लिए एक आयोग बनाकर कर्ज माफ करने की घोषणा की थी, परन्तु साढ़े चार साल बीतने के वाद भी आपने कुछ नही कहा है।
चुनाव पूर्व आप की पार्टी के ही देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने घोषणा की थी कि बीजेपी की सरकार बनने पर ष्स्वामीनाथन रिपोर्ट के अनुसार किसानों को उनकी लागत मूल्य का डेढ़ गुना फसल का दाम दिया जाएगा, परन्तु सरकार बनने के बाद मोदी सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में शपथ पत्र दे कर कहा कि स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू नही की जा सकती है।
आप की केन्द्र सरकार द्वारा गत 3 बर्षो में देश के चन्द बड़े उद्योगपतियों का 17 लाख करोंड़ का कर्जा माफ कर दिया गया परन्तु किसानों के कर्ज को माफ करने से इंकार कर दिया है।

बिजली की लूट
मध्यप्रदेश में आज देकी सबसे महंगी बिजली दर है जबकि मध्यप्रदेश से ही बिजली लेकर दिल्ली की केजरीवाल सरकार मध्यप्रदेश से एक तिहाई दाम पर बिजली दे रही है, अगर मध्यप्रदेश सरकार निजी बिजली कंपनियों से अपने गैरकानूनी समझोतें रद्द कर दे तो हमारे प्रदेश मैं भी बिजली के दाम आधे किये जा सकतें है, जब दिल्ली में आप सरकार मध्यप्रदेश से बिजली खरीद कर दाम आधे कर सकती है तो मध्य प्रदेश में दाम आसानी से आधे किये जा सकतें हैं।

बेरोजगारी
मौजूदा बीजेपी सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार और अर्थव्यवस्थाओं के कारण ही आज प्रदेश मैं 25 लाख से ज्यादा शिक्षित बेरोजगार हैं औंर स्थिति इतनी भयावय हैं की बेरोजगारी से परेशान होकर हर रोज 2 युवा आत्महत्या करने को मजबूर हैं, फिर भी सरकार मूक दर्शक बनी हुई हैं।
सरकार के कुशासन, जनता से वादाखिलाफी, हर स्तर पर फैले भ्रष्टाचार के कारण प्रदेष की जनता हिरेशन त्राहि कर रहीं हैं। आदमी पार्टी का मानना है कि इन सभी मुददों पर तत्काल करवाई की आवष्कता हैं।
आम आदमी पार्टी यह मांग करती है कि -
1. किसानों का पूरा कर्ज मांफ किया जाये.
2. एम एस स्वामीनाथन समिति की रिपोर्ट के अनुसार किसांनो की फसल का न्यूनतम दाम उसकी लागत का डेढ़ गुना रखा जाए, एवं किसानों को अन्य सुविधायें दी जाए. सुखा, ओला, पाला या किसी कारण से फसल नुकसान होने पर दिल्ली की आम आदमी की सरकार की तरह 50000 रूपए प्रति हेक्टेयर का मुआवजा दिया जाए।
3. बिजली के दाम सभी घरेलू, किसानी, व्यवसायी, उद्योगिक क्षेत्रों के लिए घटाकर आधे किये जाये।
4. बेरोजगार युवाओ के लिए रोजगार दिया जाए, रोजगार न दिये जाने तक रोजगारी भत्ता दिया जाये।
उपरोंक्त सभी मांगो को दिनांक 25 मई के पहले पूरा किया जाए अन्यथा आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल 26 मई से अनिष्चित कालीन अनशन करेगें, साथ ही पूरे प्रदेश में आम आदमी पार्टी इस मुददे पर व्यापक स्तर पर आन्दोलन करेगी।

SHOBHIT JAIN
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment