स्वतंत्र प्रभात-राशन माफिया डकार रहे राशन, क्या मिले हुए है अफसर और राशन माफिया

 

राशन माफिया डकार रहे राशन, क्या मिले हुए है अफसर और राशन माफिया

बस्ती,गौर।

जहाँ सूबे की योगी सरकार भ्रष्टाचार मुक्त शासन का राग अलापते नहीं थक रही है,वहीं जिम्मेदार और राशन माफिया गरीबों के निवाले को आपसी सांठ गांठ से जमकर लूट रहे हैं। 

ताजा मामला गौर विकास खंड के ग्राम पंचायत-चनईपुर का प्रकाश में आया है। कोटेदार द्वारा गरीबों में वितरित होने वाले राशन को गोदाम से उठान करने के बाद जिम्मेदारों की मिलीभगत से ब्लैक मार्केट में ऊंचे दाम पर बेंचा जा रहा है। 

 चनईपुर गांव निवासी ने उपजिलाधिकारी हर्रैया से आईजीआरएस की आनलाइन शिकायत में आरोप लगाया है कि उक्त ग्राम पंचायत के कोटेदार द्वारा तीन माह में मात्र एक बार ही निर्धारित दर से अधिक मूल्य लेकर राशन वितरण किया जाता है।मिट्टी का तेल मात्र एक लीटर 30 रुपये में दिया जाता है। 

 पूर्व में भी कोटेदार के विरुद्ध पूर्ति निरीक्षक से लगायत जिलास्तरीय अधिकारियों को दूरभाष पर भी शिकायत कर चुके हैं।परंतु जिम्मेदार शिकायतों की जांच करना मुनासिब नहीं समझते।

 जिसमे गरीब आसहाय और यहाँ तक कि दोनों आँखों से ना देख सकने वाले व्यक्ति ने कोटेदार और ग्राम प्रधान सहित प्रधान प्रतिनधि पर गाँव के लोगो ने जमकर आरोप लगाया था जिसके क्रम में यह जांच जरूरी है। जिससे गरीबो को उनका हक़ मिल सके।

 

रवि कुमार कौशल की रिपोर्ट बस्ती से

RAVI KUMAR KAUSHAL
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment