स्वतंत्र प्रभात-मोबाइल पेमेंट का बदलेगा तरीका, आपकी आवाज से होंगी ट्रांजैक्‍शन

 

नई दिल्ली. आने वाले वर्षों में मोबाइल पेमेंट और सरल होने वाला है. मोबाइल पेमेंट फोरम ऑफ इंडिया (एमपीएफआई) यूजर फ्रेंडली फीचर्स जैसे वायस बेस्‍ड ऑथेंटिकेशन को लाने की तैयारी कर रहा है. इस तरह के फीचर आने से लोगों के लिए मोबाइल से पेमेंट करना काफी आसान होगा. ये उन लोगों के लिए भी काफी मददगार होगा, जिन्‍हें फाइनेंशियल ट्रांजैक्‍शन की जरूरी जानकारी नहीं है. बता दें, एमपीएफआई एक थिंक टैंक है, जो मोबाइल पेमेंट सिस्‍टम को लेकर सॉल्‍यूशन देता है.

खास बातें :

  1. MPFI मोबाइल पेमेंट सिस्‍टम को लेकर सॉल्‍यूशन देता है

  2. फाइनेंशियल सर्विसेज को प्रभावी और सस्‍ता बनाने का लक्ष्य

  3. MPFI का फोकस फ्यूचर टेक्‍नोलॉजी पर है

सुरक्षित, प्रभावी और सस्‍ता बनाने का लक्ष्य
एमपीएफआई, इंस्‍टीट्यूट फॉर डेवलपमेंट एंड रिसर्च इन बैंकिंग टेक्‍नोलॉजी, हैदराबाद और रूरल टेक्‍नोलॉजी बिजनेस इनक्‍युबेटर, आईआईटी मद्रास का एक ज्‍वाइंट इनीशिएटिव है. फोरम का मिशन मोबाइल पेमेंट्स और फाइनेंशियल सर्विसेज को सुरक्षित, प्रभावी और सस्‍ता बनाना है। एमपीएफआई ने इमीडिएट पेमेंट सर्विस (आईएमपीएस) और यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) के लिए इंटरपोर्टेबिलिटी और सिक्‍योरिटी स्‍टैंडडर्स डेवलप करने में अहम रोल अदा किया है. आईएमपीएस मोबाइल पेमेंट्स का बेसिक प्‍लेटफॉर्म है. एमपीएफआई में पॉलिसी मेकर्स, बैंक, टेलिकॉम कंपनियां और अन्‍य शामिल हैं.

फ्यूचर टेक्नोलॉजी पर फोकस
एमपीएफआई के चेयरमैन गौरव रैना ने बताया कि हमारा फोकस फ्यूचर की टेक्‍नोलॉजी को लेकर है, जिसमें वायस बेस्‍ड ऑथेंटिकेशन और सिक्‍युरिटी एंड प्राइवेसी शामिल है. लेकिन हमारा उद्देश्‍य इसे अधिक से अधिक लोगों के लिए आसान बनाना है. भविष्‍य में बुजुर्ग लोग अन्‍य तरह की टेक्‍नोलॉजी के साथ सहज नहीं हो सकते हैं.वॉयस बेस्‍ड अथेंटिकेशन की डिजाइनिंग को लेकर प्रयास शुरू हैं। एमपीएफआई का फोकस आने वाले सालों में इस तरह के फीचर डेलवप करने पर है। 

बढ़ रहा है IMPS और UPI से ट्रांजैक्‍शन
रैना ने बताया कि अगस्‍त 2017 में अकेले आईएमपीएस और यूपीआई के जरिए 9 करोड़ से ज्‍यादा फाइनेंशियल ट्रांजैक्‍शन हुए। 2016-17 में आईएमपीएस पर 50 करोड़ ट्रांजैक्‍शन हुए थे। उन्‍होंने कहा कि आंकड़ों में ग्रोथ काफी बेहतर है लेकिन यह इस बात का भी संकेत है कि इंडियन इकोनॉमी में मोबाइल पेमेंट्स के लिए काफी ज्‍यादा संभावनाएं हैं.

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment