स्वतंत्र प्रभात-पालीथीन का इस्तेमाल बंद करें

 

देश के कई राज्यों में पॉलीथिन व प्लास्टिक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने की कागजी घोषणा की जा चुकी है । इसमें उत्तरप्रदेश भी शामिल है ।सरकार द्वारा इसलिए पॉलिथिन तथा प्लास्टिक आदि के सार्वजनिक प्रयोग पर प्रतिबंध लगाए जाने के प्रयास किए जा रहे है  l

क्योंकि इनके कचरों का समूल नाश नही हो पाता है और यह मिट्टी की उर्वरक क्षमता को अत्यधिक प्रभावित करते है ।इसके कारण हमारे पर्यावरण पर दुष्प्रभाव पड़ता है ।इसके अतिरिक्त शहरों व कस्बों में बहने वाले नालों व नालियों में भी यही अनाशीय कचरा इनके जाम होने का कारण बनता है ।परिणाम स्वरुप बरसात के दिनों में बाढ़ जैसे हालात पैदा कर देता है । इन्हीं हालात से बचने के लिए सरकार प्रायः इस विषय पर विचार करती रहती है कि क्यों न पॉलिथीन व प्लास्टिक के सार्वजनिक रुप से होने वाले बेतहाशा प्रयोग को प्रतिबंधित कर दिया जाए।

हम इस बात की प्रतीक्षा कतई न करें कि सरकार इन अनाशीय कचरों पर स्वयं प्रतिबंध लगाएगी। हमें स्वयं जागरुक होना होगा तथा ऐसी नकारात्मक परिस्थितियों से स्वयं ही जूझना होगा! लेखक, :- सुशील कुमार वर्मा, सिन्दुरियां महराजगंज, गोरखपुर विश्वविद्यालय

SUSHIL KUMAR VERMA
recommend to friends

Comments (0)

Leave comment