स्वतंत्र प्रभात-ऋषभ पंत ने कहा, राहुल द्रविड़ सर से बहुत कुछ सीखा, अब धोनी भाई से सीखने का मिलेगा मौका...

मुंबई: इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए पहली बार भारतीय टीम में शामिल किए गए युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने शुक्रवार को उम्मीद जताई कि अब उनकी महेंद्र सिंह धोनी से मिलने की ख्वाहिश पूरी होगी और उन्हें उनसे विकेटकीपिंग को लेकर कुछ गुर सीखने को मिलेंगे. पतं का कहना है कि वह लंबे समय से धोनी से मिलना चाहते थे, लेकिन इसका अवसर उन्हें नहीं मिल पायान्नीस साल के पंत ने यहां डीवाई पाटिल टी20 कप के इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘अपने चयन को लेकर मैं काफी खुश हूं. मैं काफी नहीं सोचता, मैं अपने चयन का लुत्फ उठा रहा हूं.’’

दिल्ली रणजी टीम की ओर से खेलने वाले बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘‘मैं अपनी फिटनेस, विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी पर काम करता हूं, जिससे मुझे मदद मिल रही है. सत्र से पहले मैंने अपने ट्रेनर के साथ अच्छा समय बिताया और इससे मदद मिल रही है

ऋषभ पंत को मिली टीम इंडिया में जगह, टी20 से करेंगे बड़े करियर का आगाज़.’’

एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली राष्ट्रीय चयन समिति ने पंत को इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में जगह दी जिससे संकेत जाते हैं कि वे किसे धोनी का उत्तराधिकारी समझते हैं. इस बीच पंत ने उम्मीद जताई कि उन्हें धोनी से सीखने का मौका मिलेगा विशेषकर विकेटकीपिंग.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं लंबे से समय धोनी भाई से सीखने का प्रयास कर रहा हूं, लेकिन समय नहीं आया क्योंकि वे अलग टीमों में थे. अब मौका मिला है तो मैं उनसे विकेटकीपिंग के काफी गुर सीखने की कोशिश करूंगा.’’

पंत ने कहा कि उन्होंने अनुशासन राहुल द्रविड़ से सीखा जो उनके अंडर 19 कोच और आईपीएल मेंटर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘राहुल सर से आपको अनुशासन सीखने को मिलता है. मुझे जब भी समय मिलता है मैं उनसे निश्चित तौर पर बात करता हूं.’’ पंत ने 10 प्रथम श्रेणी मैचों में अब तक 1080 रन बनाए हैं जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 308 रन है.

टी20 टीम में चुने गए लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने कहा कि उन्हें नये कप्तान विराट कोहली के साथ अच्छे रिश्ते की उम्मीद है जिनके साथ वह आईपीएल में खेल चुके हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं काफी अच्छा महसूस कर रहा हूं क्योंकि मुझे जिम्बाब्वे दौरे के बाद टी20 टीम में जगह मिली. मैं रोमांचित हूं क्योंकि पहली बार मैं पूरी टीम के साथ खेलूंगा.’’ चहल ने कहा, ‘‘मैं विराट के साथ तीन साल रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की ओर से खेला हूं. मुझे पता है कि वह कैसे बदलाव करते हैं. माही भाई (धोनी) के साथ अलग और अच्छा अनुभव था. मैं एक बार फिर विराट के मार्गदर्शन में खेलूंगा. यह अच्छा रिश्ता होगा क्योंकि मैं तीन साल उनके मार्गदर्शन में खेल चुका हूं.’’

recommend to friends

Comments (0)

Leave comment