कड़ाके की ठंड में जरुरतमंद बच्चों को वितरित किया गया कंबल

बेसहारा 70 बच्चों को संस्था की टीम ने बनीकोडर ब्लॉक के सभागार में नए गर्म कपड़े वितरित किया
 
कड़ाके की ठंड में जरुरतमंद बच्चों को वितरित किया गया कंबल

स्वतंत्र प्रभात 
रामसनेहीघाट बाराबंकी।

  कड़ाके की ठंड में जरूरतमंद बच्चों को नए गर्म कपड़े मिलने पर चेहरे पर एक अजीब ख़ुशी के भाव नजर आए बच्चों के चेहरे की ख़ुशी देखकर बर्बस आंखों में पानी बह निकला जो एक आत्मसम्मान का था। बेसिक उत्थान एवं ग्रामीण सेवा संस्थान द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन 1098 की आउटरीच में तहसील रामसनेघाट क्षेत्र में मिले जरूरतमंद बेसहारा 70 बच्चों को संस्था की टीम ने बनीकोडर ब्लॉक के सभागार में नए गर्म कपड़े वितरित किया। कपड़ा वितरण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रेस क्लब के अध्यक्ष रामबाबू मिश्र ने बच्चों को अपने हाथों से गर्म टोपी पहनाई और उन्हें ठंड के साथ ही कोविड-19 की तीसरी लहर से बचने के लिए जागरूक किया। कार्यक्रम में पत्रकार राकेश श्रीवास्तव व सहायक विकास अधिकारी पंचायत व प्रभारी खण्ड विकास अधिकारी राजेश वर्मा व पत्रकार अजय तिवारी, ब्लाक के कर्मचारी अशोक सिद्धार्थ ने भी बच्चों को कपड़े वितरित करके नववर्ष की शुभकामनाएं दी। 

संस्थान के अध्यक्ष व चाइल्ड लाइन के निदेशक रत्नेश कुमार  ने सभी बच्चों को नए गर्म कपड़े, मोजा,पजामा, इनर टोपी उपलब्ध कराया और ठंड से बचने तथा कोरोना की तीसरी लहर से बचाव की जानकारी दी।बच्चों को मिले गर्म कपड़े उनकी मासूमियत खुशी से स्वयं का मन गदगद हो गया। रत्नेश कुमार ने कहा कि हर बच्चे का हक है कि वह सुरक्षित माहौल पाए, भोजन, कपड़ा और शिक्षा समय पर मिले, संस्था का सतत प्रयास है कि हर बच्चे को  उसका हक मिले।  रत्नेश कुमार ने बताया कि यह गर्म कपड़ों की व्यवस्था समाज के दान प्रेमियों के सहयोग से की गई है। कपड़ो के संग्रह में जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट गोमतीनगर के प्रबंधन छात्रों का योगदान है। इस अवसर पर बच्चों के साथ आये आधा सैकड़ा वयस्क लोगो को भी ठंड से बचाव के लिए जरूरत के कपड़े वितरित किया गया। इस अवसर पर चाइल्ड लाइन टीम लीडर अवधेश कुमार, सदस्य रामकैलाश, अखिलेश कुमार, अंजली जायसवाल वंदना सहित तमाम गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

FROM AROUND THE WEB