नाबालिक को किडनैप कर दो होटलों में ले जा कर किया रेप: हैदराबाद

हैदराबाद में एक बार फिर मानवता को शर्मसार करने वाली घटना आयी सामने
 
नाबालिक को किडनैप कर दो होटलों में ले जा कर किया रेप: हैदराबाद

स्वतंत्र प्रभात 

तेलंगाना के हैदराबाद से एक बार फिर मानवता शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। एक नाबालिग लड़की के साथ कथित तौर पर दो होटलों में ले जाकर रेप किया गया। हैदराबाद पुलिस ने 12 से 14 सितंबर के बीच नाबालिग लड़की को किडनैप कर दो अलग-अलग होटलों में ले जाकर रेप करने के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार किया। पीड़ित लड़की पुराने हैदराबाद शहर के दबीरपुरा इलाके की बताई जा रही है। पुलिस ने लड़की को अर्ध बेहोशी की हालत में चदरघाट के पास पाया। मां की शिकायत के आधार पर दबीरपुरा पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस निरीक्षक जी कोटेश्वर राव ने कहा, “हमने आरोपी की पहचान कर ली है। मामले की जांच की जा रही है, और हम जांच के बाद मामले की आगे की डिटेल साझा करेंगे।” आरोपित पुलिस की हिरासत में बताए जा रहे हैं और उनसे पूछताछ की जा रही है। 

क्या है पूरा मामला 
पीड़िता की मां ने संवाददाताओं को बताया कि 12 सितंबर की रात करीब 8:15 बजे लड़की साबुन खरीदने एक दुकान पर गई थी। उन्होंने कहा, “मैंने उसे कुछ दवाएं लेने के लिए 500 रुपये भी दिए थे क्योंकि मुझे सीने में दर्द था। लेकिन वह काफी देर बाद भी नहीं लौटी।" अगले दिन सुबह उसकी मां ने शिकायत की। महिला ने कहा, "14 सितंबर की देर शाम पुलिस उसे घर ले आई लेकिन तब तक वह अर्ध-चेतन अवस्था में थी और ठीक से चलने की स्थिति में नहीं थी।" बार-बार पूछताछ करने पर लड़की ने अपनी मां को बताया कि दो युवकों ने उसका अपहरण कर लिया था।

मां ने अपनी बेटी के हवाले से दावा किया, “उसे एक कार में एक होटल में ले जाया गया, जहां उसे कुछ इंजेक्शन दिए गए और कुछ गोलियां मिलाकर कोल्ड ड्रिंक पीने के लिए मजबूर किया गया। दो युवकों द्वारा उसे शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया और उसका यौन उत्पीड़न किया गया।” लड़की द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर पुलिस ने नामपल्ली के दो होटलों का निरीक्षण किया जहां आरोपी ने लड़की को ले जाकर उसका यौन शोषण किया था।

क्या कहते है पुलिस अधिकारी 
संज्ञान मामले में पुलिस अधिकारी ने कहा, सबसे पहले आरोपियों ने 12 सितंबर की रात को नामपल्ली स्टेशन रोड पर एक होटल में एक कमरा बुक किया। उन्होंने उसे एक सीडेटिव इंजेक्शन दिया और बाहर चले गए। वे भी नशे की हालत में थे। होटल स्टाफ ने उनसे पहचान पत्र मांगा तो उन्होंने देने से इनकार कर दिया। अगले दिन, जब होटल प्रबंधन ने जोर देकर कहा कि वे अपना पहचान पत्र दें, तो उन्होंने चेक आउट कर दिया।” बाद में, 13 सितंबर को रात करीब 9 बजे, उन्होंने पास के एक अन्य होटल में चेक इन किया और 14 सितंबर की दोपहर में चेक आउट किया। पुलिस अधिकारी ने कहा, "आरोपी ने उसे चादरघाट के पास छोड़ दिया और वहाँ से भाग गए।  

   

FROM AROUND THE WEB