मेन रास्ते से लगाकर प्रधान के घर के दरवाजे तक बरसात का पानी

लभराव की समस्या का समाधान न हुआ तो होगा धरना प्रदर्शन 

 
मेन रास्ते से लगाकर प्रधान के घर  के दरवाजे तक बरसात का पानी  

स्वतंत्र प्रभात

कोठी ,बाराबंकी  सिद्धौर ब्लाक की ग्राम पंचायत अचकामऊ मजरे दयालपुर के गांव जाने वाले मेन रास्ते और उसी रास्ते में प्राथमिक विद्यालय भी हैं  जरा सी बारिश होने के चलते मेन रास्ते जलभराव होने के  चलते आने जाने में बहुत ही कठिनाई का सामना करना पड़ता है प्रधान व ग्रामीणों द्वारा इसकी शिकायत कई बार की गई लेकिन आज तक जिले से लगाकर ब्लॉक तक कोई भी अधिकारी जाने की बात तो छोड़ो  ध्यान तक नहीं दे रहे है। जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि पूरा मामला सिद्धौर ब्लाक की ग्राम पंचायत अचका मऊ मजरे दयालपुर का है जहां गांव व प्राथमिक विद्यालय जाने वाले मेन रास्ते पर लगातार बारिश होने के चलते रास्ते में अधिकतर इसी तरह लबालब पानी  भरा रहता  है इतना ही नहीं ग्रामीणों व स्कूली  छोटे-छोटे बच्चों को आने-जाने में  बड़ी ही  समस्या का सामना करना पड़ पड़ा रहता है  इतना ही नहीं घरों में पानी भी भर जाता है गांव का पानी निकलने के लिए कोई भी नाला व नाली की व्यवस्था नहीं है इसकी शिकायत ग्राम प्रधान भाजपा मंडल उपाध्यक्ष संजय वर्मा दादाजी  व ग्रामीणों ने इसकी शिकायत क्षेत्रीय विधायक व उच्च अधिकारी तथा ब्लॉक के अधिकारियों द्वारा की गई लेकिन आज तक पानी निकालने के लिए कोई भी प्रयास व व्यवस्था नहीं की गई

जिसके चलते जरा सी बारिश  मैं घर के अंदर पानी भर जाता है और लोगों को रहने के लिए दूभर हो जाता है और प्राथमिक विद्यालय  के प्रांगण में भी पानी लबालब भर जाता है जिससे छोटे-छोटे ननिहालो व शिक्षकों को जाने में बड़ी ही कठिनाई का सामना करना पड़ता है ग्रामीणों का आरोप है कि हम लोगों का कोई आने जाने का भी रास्ता सही नहीं है जो भी रास्ता मेन है गांव व स्कूल के लिए उस रास्ते में पानी लबालब भर जाता वही की ग्रामीण बाबूलाल पूर्व प्रधान. रमेश  कुमार .देव शरण. वेद प्रकाश .जयशंकर. शिवराज. रामप्रकाश. उमेश कुमार .प्रवेश कुमार. सतगुरु चरण.  शुभम वर्मा.  बंसराज .रामफेर यादव . राम सुफल वर्मा.   राम अभिलाष. मंसाराम रावत .शिव कैलाश. चंद्रेश वर्मा. उमाकांत वर्मा. सुचेता नंद. अजय श्रीवास्तव. ज्ञानचंद. रामलाल. बरसाती .जयकरण. संत शरण वर्मा  लायक राम. सतीश श्रीवास्तव. गरीबे रावत ऐसे सैकड़ों लोगों को कहना है कि व्यवस्था अगर नहीं कराई गई तो हम लोग प्रदेश के मुखिया वह जिले के जिला अधिकारी महोदय से अवगत कराएंगे अगर इतना भी नहीं हुआ तो हम लोगों को मजबूरन धरना प्रदर्शन करना  पड़ेगा इसी  मामलों को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है 

   

FROM AROUND THE WEB