प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान पर लग रहा दाग प्रदेश के मुखिया का सपना रह गया अधूरा

अधिकारियों की मिलीभगत से सरकारी धन का हो रहा बंदरबांट प्रदेश के मुखिया और देश के मुखिया का सपना दिखाई पड़ रहा अधूरा 

 
 प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान पर लग रहा दाग प्रदेश के मुखिया का सपना रह गया अधूरा     

स्वतंत्र प्रभात  

सिरौलीगौसपुर विकासखंड के अंतर्गत कई ग्राम पंचायतों में स्वच्छता अभियान का नामोनिशान नहीं है लगातार हमारे द्वारा जीरो ग्राउंड पर जाकर देखा जा रहा है की कहां पर कितना देश के मुखिया और प्रदेश के मुखिया का सपना स्वच्छता अभियान कितना साकार है आपको बता दें सिरौलीगौसपुर ब्लाक के अंतर्गत कई ग्राम पंचायतों में एक कहावत चरितार्थ हो रही है कि भैंस के आगे बीन बाजे भैंस खड़ी पगुराय  या कहावत सिरौलीगौसपुर विकासखंड की ग्राम पंचायत अमरा देवी में चरितार्थ हो रही है लगातार हमारे द्वारा जीरो ग्राउंड पर जाकर खबर प्रकाशित की गई लेकिन बेलगाम अधिकारी व अमरा देवी ग्राम पंचायत के भ्रष्ट प्रधान स्वच्छता अभियान को विफल करने पर तुले हैं वही अगर हम बात करें स्वच्छता अभियान पर सरकार के द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं वही अमरा देवी ग्राम पंचायत के प्रधान स्वच्छता अभियान पर सरकार के द्वारा खर्च किए जा रहे पैसे तो निकाल लेते हैं

लेकिन वक्त कहां खर्च करते हैं या तो ग्राम प्रधान ही जान सकते हैं क्योंकि अमरा देवी ग्राम पंचायत का हाल सफाई के मामले में बिल्कुल अपने आप में मस्त है अमरा देवी ग्राम पंचायत को जाने वाला मुख्य रास्ता विद्यालय के सामने रास्ते पर घूर गड्ढों का अंबार लगा है और इसी रास्ते से अमरा देवी ग्राम पंचायत के प्रधान का आना जाना रहता है लेकिन क्या ग्राम प्रधान की इस गंदगी पर नजर नहीं पड़ती या फिर सिर्फ और सिर्फ सरकार के द्वारा खर्च किए जा रहे पैसों को निकाल कर अपनी जरूरतें पूरी करते हैं वही आपको बता दें अमरा देवी ग्राम पंचायत के निवासी रामकुमार तिवारी के घर के सामने नाली कचड़े से भरी हुई है इस बात को लेकर रामकुमार तिवारी की पत्नी ने बताया कि ग्राम प्रधान अनमोल से उन्होंने कई बार सफाई करवाने के लिए कहा लेकिन ग्राम प्रधान की तरफ से सिर्फ और सिर्फ आश्वासन ही मिला वही अमरा देवी ग्राम पंचायत के फूलचंद ने भी कई बार सफाई व्यवस्था को लेकर ग्राम प्रधान से कहा लेकिन ग्राम प्रधान तो सिर्फ और सिर्फ सरकारी धन निकाल कर अपनी व्यवस्थाएं चुस्त दुरुस्त करवाने में लगे हैं जिम्मेदार अधिकारियों की मिलीभगत से सरकारी धन का हो रहा बंदरबांट प्रदेश के मुखिया और देश के मुखिया का सपना दिखाई पड़ रहा अधूरा।

   

FROM AROUND THE WEB