बच्चों से सिलेंडर गैस भरवाने वाले अध्यापक हुआ निलंबित

 
स्वतंत्र प्रभात

स्वतंत्र प्रभात-

मिर्जापुर।

अपना काम बच्चों से कराना कम्पोजिट विद्यालय मुंहकुचवा नमें तैनात चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रविंद्र को महंगा पड़ गया । गैस सिलेंडर लाने के लिए उन्होंने बच्चों को जिम्मेदारी सौंप दी  मामले का वीडियो वायरल होने के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने उन्हें निलंबित कर दिया  । इस दौरान उन्हें आधा वेतन मिलेगा । निलंबन की अवधि में महंगाई भत्ता नहीं दी जायेगी।  मामला इस प्रकार बताया जाता है कि कम्पोजिट विद्यालय मुंहकुचवा का गैस सिलेंडर लाने के लिए प्रधानाध्यापक ने विद्यालय के चपरासी को भेजा था ।

वह अपने साथ विद्यालय के 4 बच्चों को दो साईकिल के साथ ले गया। उसने गैस सिलेंडर विद्यालय तक पहुंचाने के लिए बच्चों को कहा । किसी प्रकार साइकिल पर सिलेण्डर लादकर बच्चे विद्यालय पहुंचे । इसी दौरान रास्ते में बच्चों के द्वारा सिलेंडर ढोने का वीडियो किसी ने बना लिया । उसे वायरल कर दिया गया। वायरल वीडियो संज्ञान में आने के साथ ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने खंड शिक्षा अधिकारी पहाड़ी को जांच की जिम्मेदारी सौंपी ।

जांच में मामला सही पाए जाने पर विद्यालय के आरोपी चपरासी को निलंबित कर दिया गया । उसे इस दौरान उसे लालगंज कार्यालय से अटैच किया गया है । इस अवधि के दौरान आरोपी को आधा वेतन मिलेगा तो महंगाई भत्ता नहीं दिया जाएगा । जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने कहा कि बच्चे विद्यालय में पढ़ने आते हैं , काम करने नहीं । लिहाजा उनके पढ़ाई पर ध्यान दिया जाए । बच्चों से काम कराने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी । 

FROM AROUND THE WEB