35 वर्षीय विवाहिता ने फांसी के फंदे से झूलकर समाप्त की जीवन लीला

गांव में विवाहिता पारिवारिक कलह के चलते फांसी के फंदे पर झूल गई
 
35 वर्षीय विवाहिता ने फांसी के फंदे से झूलकर समाप्त की जीवन लीला
रहीमाबाद पुलिस ने शव को फाँसी के फंदे से उतारकर अपने कब्जे में ले लिया

लखनऊ/मलिहाबाद, कोतवाली के चौकी रहीमाबाद क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव में विवाहिता पारिवारिक कलह के चलते फांसी के फंदे पर झूल गई पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

रहीमाबाद चौकी के अंतर्गत सहिजना गाँव का रहने वाले किसान सर्वेश 40 वर्ष ने बताया कि उसकी पत्नी ममता 35 वर्ष सबेरे खाना बनाकर घर का कामकाज कर रही थी उसने अपनी पत्नी के द्वारा खाना खाने के बाद बाल कटवाने के लिए रुपए मांगे तो ममता ने सौ रुपए दिए सर्वेश बाल कटवाने चला गया और बड़ी बेटी रेनू 13 वर्ष, खुशबू 11 वर्ष बेटा श्रीनिवास 8 वर्ष गांव के पास एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ने गए थे।

 सर्वेश ने बताया जब वह बाल कटवाकर घर वापस लौटा तो उसकी पत्नी ममता उसको घर मे नही मिली  देर तक इन्तेजार करने के बाद भी वह घर नही आई तब उसने उसकी खोज बीन सुरु की तो पुराने कच्चे घर की कोठरी में मंगलवार दोपहर लगभग 3 बजे प्लास्टिक की रस्सी के सहारे ममता का शव लटकता मिला। फांसी की खबर गाँव में फैलते ही सैकड़ो लोगों की भीड़ मौके पर इकट्ठा हो गई। सूचना पर पहुँची रहीमाबाद पुलिस ने शव को फाँसी के फंदे से उतारकर अपने कब्जे में ले लिया।

सर्वेश की तरफ से पुलिस को तहरीर दी गई है कि ममता ने अपनी मर्जी से स्वयं आत्महत्या की है वही कुछ बातें ग्रामीणों के द्वारा मालूम हुई है कि दीपावली के पहले ममता और सर्वेश में कहासुनी हुई थी जिसके बाद ममता अपने घर अरसलिया थाना अतरौली जनपद हरदोई चली गई थी पंचायत के बाद दीपावली में ममता अपने घर सहिजना आ गई थी तभी से पति-पत्नी में आपसी मनमुटाव चल रहा था जिसके चलते ममता ने फांसी लगाकर जान दी है।

FROM AROUND THE WEB