अधिकारियों की मिलीभगत से नहीं हुआ कोटे का चयन ग्रामीणों में भारी आक्रोश

ग्रामीणों में भारी आक्रोश देखा गया इस पूरी प्रक्रिया में इटियाथोक पुलिस पूरी तरीके से तैनात रही  इस दौरान योगेश द्विवेदी, सुरेश चंद्र मिश्रा जान्हवी तिवारी मौजूद रही 
 
अधिकारियों की मिलीभगत से नहीं हुआ कोटे का चयन ग्रामीणों में भारी आक्रोश

स्वतंत्र प्रभात

गोंडा  जनपद के इटियाथोक क्षेत्र की जहां ग्राम पंचायत विशुनपुर तिवारी में सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकान का चयन आज किया जाना था सुबह से ही प्राथमिक विद्यालय रमगढ़िया में दोनों पक्षों के लोग जुटने शुरू हुए वही चुनाव के लिए अधिकारियों ने प्रक्रिया शुरू की ग्राम पंचायत में चल रहे तो स्वयं सहायता समूह के प्रतिनिधियों ने अपने अपने नामांकन दाखिल किए कोटे की दुकान के लिए दो नामांकन पत्र दाखिल किए गए दोनों नामांकन पत्र वैध पाएं गए , एक पक्ष मां पाटेश्वरी स्वयं सहायता समूह की तरफ से मिथिलेश तिवारी व दूसरे पक्ष शिव महिला स्वयं सहायता समूह से सुनीता तिवारी  ने दावा प्रस्तुत किया। अधिकारियों के द्वारा दिशा निर्देश दिया गया दोनों पक्ष अपने-अपने लोगों को इकट्ठा करें दोनों पक्षों के द्वारा अपने-अपने लोगों को इकट्ठा किया गया

उसके बाद एक पक्ष के लोग की संख्या कम देखते हुए अधिकारियों की सांठगांठ से मैदान छोड़कर भाग लिए जिसके कारण चयन प्रक्रिया संपन्न नहीं हो पाई इस बारे में आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया की सुबह से ही लोग स्कूल कैंपस में जमा हुए और जब वोटिंग की बारी आई अधिकारियों की सांठगांठ से  विपक्षियों के द्वारा वाक आउट कर दिया गया इस बारे चयन प्रक्रिया चयनित अधिकारी  योगेश द्विवेदी से इस बारे में बात किया गया तो उन्होंने बताया यह चयन प्रक्रिया का पहला एजेंडा था इस कारण अगली डेट 22 सितंबर को लगाई गई है उच्च अधिकारियों के दिशा निर्देश के आधार पर कार्य किया जा रहा है जबकि ग्रामीणों का कहना है इससे पूर्व तीन बार यह प्रक्रिया हो चुकी है ग्रामीणों का कहना है कि जब संख्या बल के आधार पर कोटे का चयन करना है तो फिर बार-बार एजेंडा क्यों बदला जा रहा है इस प्रक्रिया से

   

FROM AROUND THE WEB