श्रीकृष्ण जन्म की कथा सुन भाव विभोर हुए श्रद्धालु

इस मौके पर पंकज सिंह, अभिमान सिंह, श्री कृष्ण चौरसिया, अयोध्या दीक्षित ,रामकुमार तिवारी, सुंदर सिंह, अन्नू सिंह डब्बू सिंह आनंद सिंह रमेश प्रजापति आदि भारी संख्या में श्रोता गण मौजूद रहे 
 
श्रीकृष्ण जन्म की कथा सुन भाव विभोर हुए श्रद्धालु 

स्वतंत्र प्रभात  

लालगंज रायबरेली बेहटा कला मे चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के चतुर्थ दिन श्री कृष्ण जन्म की कथा का प्रसंग सुनकर श्रद्धालु भाव विभोर हो उठे ।कथा व्यास आचार्य शिव प्रसाद शुक्ला ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण अपने भक्तों का उद्धार व पृथ्वी को देव शक्तियों से मुक्त कराने के लिए अवतार लिया था उन्होंने कहा कि जब जब पृथ्वी पर धर्म की हानि होती है तब-तब भगवान धरती पर अवतरित होते हैं बेहटा  कला में चल रही  श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन भगवान श्री कृष्ण के जन्म का प्रसंग उनके जन्म लेने के गुणों को कथा व्यास ने बेहद संजीदगी के साथ सुनाया कथा प्रसंग सुनाते हुए कथा व्यास ने बताया कि जब अत्याचारी 

कंस के पापों से धरती डोलने लगी तो भगवान श्री कृष्ण को अवतरित होना पड़ा  सातसंतानों के बाद जब देवकी गर्भवती हुई तो उसे अपनी इस संतान की मृत्यु का भय सता रहा था भगवान की लीला को कोई नही समझ सकते हैं भगवान कृष्ण के जन्म लेते ही जेल के सभी बंधन टूट गए और भगवान श्री कृष्ण गोकुल पहुंच गए ।कथा का संगीतमय वर्णन सुन श्रद्धालु गण झूमने लगे । कथा व्यास ने कहा कि भगवान श्री राम की मर्यादा और श्री कृष्ण को तब समझोगे जब राम मय बनो। जब भक्ति मार्ग में भक्त लीन रहता है तब प्रभु दर्शन देते हैं भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के तमाम मार्मिक प्रसंग सुनाएं। मुख्य यजमान अवधेश प्रताप सिंह ने भगवान की आरती कर प्रसाद का वितरण किया इस मौके पर पंकज सिंह, अभिमान सिंह, श्री कृष्ण चौरसिया, अयोध्या दीक्षित ,रामकुमार तिवारी, सुंदर सिंह, अन्नू सिंह डब्बू सिंह आनंद सिंह रमेश प्रजापति आदि भारी संख्या में श्रोता गण मौजूद रहे 

   

FROM AROUND THE WEB