लंपी संक्रमित पशु को दें देशी इलाज, रखें सावधानियां- बीडीओ बृजेश मिश्र

भरावन में बैठक कर बीडीओ ने लंपी बीमारी से लक्षण व बचाव के उपाय बताये

 
लंपी संक्रमित पशु को दें देशी इलाज, रखें सावधानियां- बीडीओ बृजेश मिश्र 

स्वतंत्र प्रभात 

भरावन हरदोई भरावन विकासखंड सभागार में बीडीओ बृजेश मिश्र ने बैठक का आयोजन कर गायों व भैसों में फैल रही लंपी बीमारी के लक्षण व बचाव के उपाय बताए। उन्होंने कहा कि लंपी त्‍वचा रोग के कारण गायों और भेंसों में चल रहा यह गांठदार त्‍वचा रोग काफी तेजी से फैल रहा है। अभी तक देश के करीब 17 राज्‍यों में फैल चुकी यह बीमारी महामारी का रूप ले चुकी है. लिहाजा जरूरी है कि न केवल सरकारें बल्कि पशु पालक भी इसे लेकर जागरुक रहें. यह एक संक्रामक रोग है, इसका कोई इलाज भी नहीं है लेकिन अगर कोई गाय इससे संक्रमित होती है तो कुछ परंपरागत उपचार भी किए जा सकते हैं जो काफी उपयोगी हैं।

पशुचिकित्साधिकारी डॉ शम्भू शरण चौधरी ने कहा कि देश के कई राज्‍यों में गायों और भैंसों में लंपी स्किन रोग वायरस का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है. जिसकी वजह से गुजरात, राजस्‍थान सह‍ित कई राज्‍यों में हजारों की संख्‍या में मवेशियों की मौत हो चुकी है। मरने वाले पशुओं में सबसे बड़ी संख्‍या गायों की है। लंपी स्किन रोग एक संक्रामक रोग है जो वायरस की वजह से तेजी से फैलता है और कमजोर इम्‍यूनिटी वाली गायों को खास तौर

पर प्रभावित करता है। इस रोग का कोई ठोस इलाज न होने के चलते सिर्फ वैक्‍सीन के द्वारा ही इस रोग पर नियंत्रण और रोकथाम की जा सकती है। हालांकि पशु चिकित्‍सा विशेषज्ञों की मानें तो कुछ देसी और आयुर्वेदिक उपायों के माध्‍यम से भी लंपी रोग से संक्रमित हुई गायों और भैंसों ठीक किया जा सकता है। इस दौरान आनंद गौतम, स्वाति सिंह, अरविंद, लक्ष्मीनारायण सहित सचिव व अन्य लोग मौजूद रहे।

   

FROM AROUND THE WEB