कोरोना की चौथी लहर से निपटने के लिए सीएचसी केन्द्र फतेहपुर में हुई मॉक ड्रिल

 
कोरोना की चौथी लहर से निपटने के लिए सीएचसी केन्द्र फतेहपुर में हुई मॉक ड्रिल

फतेहपुर-बाराबंकी। 

कोरोना की संभावित चौथी लहर से निपटने के लिए सोमवार को नगर फतेहपुर के सीएचसी केन्द्र पर मॉक ड्रिल कर पूर्वाभ्यास किया गया। इसमें स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों ने अपनी निगरानी में कोविड मरीजों व बच्चों को लाने और भर्ती कराने के तरीकों की विस्तृत जानकारी  ली।

    कोरोना की चौथी लहर की तैयारी को लेकर ज़िले का स्वास्थ्य महकमा काफी गंभीर व सतर्क है। डिप्टी सीएमओ डॉ संजय बाबू व एडिशनल सीएमओ  डॉ. डी.के श्रीवास्तव के नेतृत्व में तथा सीएचसी प्रभारी डॉ. अजय वर्मा की मौजूदगी में सीएचसी केन्द्र में मॉक ड्रिल की गई। जिसमें संक्रमित एक बच्चा रिषभ  निवासी दौलतपुर उम्र 12 वर्ष को डमी के रूप में ऑक्सीजन गैस लगाकर स्ट्रेचर से लेकर एक वार्ड दूसरे वार्ड ले जाया गया। 

जहां पर उसे वार्ड में मौजूद नर्स वीना के सुपुर्द कर दिया गया। बच्चे का वजन, टेंपरेचर, हार्ट की गतिविधियां, ऑक्सीजन का लेवल अन्य सभी जांच करके उसे भर्ती करके उसका उपचार शुरू किया गया। इस अवसर पर चिकित्सालय में बच्चों के इलाज के लिए पीकू वार्ड का टेस्ट किया गया।  डिप्टी सीएमओ डॉ संजय बाबू ने बताया कि कोरोना की संभावित चौथी लहर से निपटने के लिए तैयारियां की जा रही हैं। 

संभावना है अगर चौथी लहर आएगी तो सबसे ज्यादा बच्चों पर प्रभाव डालेगी। उन्होंने कहा कि जनपद के कई सीएचसी केंद्रों पर मॉक ड्रिल की गई। इस दौरान डिप्टी सीएमओ डॉ संजय बाबू,  एडिशनल सीएमओ डॉ. डी.के श्रीवास्तव, सीएचसी प्रभारी अजय कुमार वर्मा, स्टाफ नर्स वीना, वार्ड बॉय कृष्ण कुमार, फारमिस्ट बृजेश श्रीवास्तव सहित सीएचसी केंद्र की समस्त टीम मौजूद रही।
 

FROM AROUND THE WEB