दलित युवती के परिजनों ने दूसरे समुदाय के युवक पर अपहरण का लगाया आरोप

पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप के बाद दर्ज हुआ मुकदमा  गिरफ्तार करने में असफल पुलिस
 
पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप के बाद दर्ज हुआ मुकदमा  गिरफ्तार करने में असफल पुलिस

ब्यूरो रिपोर्ट रायबरेली


              सरेनी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में निरंकुश पुलिस अपनी कार्यशैली में सुधार करने को राजी नहीं है पुलिस की लचर कार्यशैली की खबरें आए दिन अखबार की सुर्खियों में प्रकाशित होने के बावजूद भी जिम्मेदार आला अधिकारी भी पुलिसिया कार्यशैली को दुरुस्त करने की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं

ताजा मामला रायबरेली जनपद के सरेनी थाना क्षेत्र का है जहां पर लछईखेड़ा निवासी शिव प्रसाद पुत्र रामगुलाम ने थाने में तहरीर देते हुए पुलिस को अवगत कराया कि पड़ोसी गांव निसगर का रहने वाला दीनदयाल उर्फ राहुल पुत्र अशोक कुमार चतुर्वेदी उसकी 28 वर्षीय बेटी रश्मि को डरा धमका बहला-फुसलाकर कहीं भगा ले गया है तहरीर देने के बावजूद भी पुलिस कार्यवाही के नाम पर आज और कल लगभग एक सप्ताह से दौड़ाती  रही

लेकिन ना तो मुकदमा पंजीकृत किया और ना ही लड़की को खोजने का कार्य किया थक हार कर पुलिस अधीक्षक का दरवाजा खटखटाने के बाद संबंधित धाराओं में मुकदमा तो पंजीकृत किया गया लेकिन पुलिस  आरोपी को पकड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है दलित युवती के पिता ने संवाददाता को बताया लड़की को भगाने में राहुल के पिता अशोक कुमार चतुर्वेदी तथा राहुल की मां विमला देवी बहन जया व पारुल की अहम भूमिका है

 मुकदमा पंजीकृत होने के बाद से लड़की के पिता को डराने धमकाने तथा आगे किसी प्रकार की कानूनी कार्यवाही करने पर जान से मारने की धमकी दी जा रही है जिससे परिवार के सभी सदस्य डरे सहमे हैं अपहृत युवती के पिता ने बताया कि राहुल मनचला दबंग तथा अपराधी किस्म का व्यक्ति है वह मेरी बेटी के साथ अनैतिक कार्य करके कई हत्या ना कर दे व कहीं उसे जिस्मफरोशी के धंधे में ना अकेला दे पहले तो थाने की गणेश परिक्रमा करता रहा उसके बाद पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप के बाद मुकदमा तो पंजीकृत हो गया

 लेकिन फिर भी पुलिस किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं कर रही है दूसरी ओर विपक्ष से मिल रही धमकियों के कारण परिवार के लोग चिंता में है लड़की के  पिता ने संवाददाता को बताया की आरोपी राहुल को पुलिस गिरफ्तार कर उसकी बेटी को उसकी सुपुर्दगी में करें क्योंकि आरोपित राहुल दूसरे समुदाय का है किसी भी कीमत पर सामाजिक मर्यादाओं का उल्लंघन कर शादी भी नहीं हो सकती हमें आशंका है कि कहीं बेटी के साथ अनैतिक संबंध बनाते हुए उसकी हत्या ना कर दी जाए

FROM AROUND THE WEB