अरमान के बड़े अरमान ।

अरमान के बड़े अरमान ।

रणवीर सिंह - क्राइम रिपोर्टर 

अरमान के बड़े अरमान ।

तुम समय की रेत पर - छोड़ते चलो अपने कदमों के निशां 
देखती तुम्हे ज़मीन और देखता है आसमां

लखनऊ:- कहते हैं "इरादे बुलंद हों तो मंजिलें आसान होती हैं।" और बच्चे के हाथ में समय की चाबी होती है और जो उस चाबी से तकदीर का ताला खोलना जानते हैं। वह भविष्य में मिसाइल मैन से लेकर देश के प्रधानमंत्री भी बन जाते है।

कुछ ऐसे हुनर के साथ उम्मीद शिक्षालय के प्रथम कक्षा के अरमान ने अपने हुनर से विज्ञान के क्षेत्र में एक छोटी सी सफलता हासिल किया है । 

सीमित संसाधनों के साथ अरमान ने एक छोटा पोर्टेबल कूलर बनाया है जिसमें 12v की मोटर, अधिकतम 1.2 एम्पियर्स, डीसी पंखा, मोटर शिफ्ट पिन का 3.17 मिमी व्यास एवं धातु का शुद्ध वजन 100 ग्राम है। इस कूलर में 9 वोल्ट की जस्ता कार्बन बैटरी (गैर रिचार्जेबल, टिकाऊ, लंबे समय तक चलने वाली बैटरी) लगी है जिससे यह कूलर अच्छी हवा भी देता है।

उम्मीद शिक्षालय में अध्यन करने वाला यह बच्चा अपने शैक्षणिक प्रदर्शन में भी अच्छा प्रदर्शन किया करता है, शिक्षालय में हर शुक्रवार परीक्षा में भी अरमान अच्छा प्रदर्शन करता है। अरमान के पिता एक ड्राइवर है और बहुत ही गरीब परिवार से जुड़े है।

उम्मीद संस्था अरमान के उज्ज्वल भविष्य की कामना करती है तथा हर क्षेत्र में उनके द्वारा किए जा रहे परिश्रम से वह आगे बढ़े इसकी कामना करती है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments