दवा कंपनी पर घटिया तरीके से दवा बनाने का आरोप

दवा कंपनी पर घटिया तरीके से दवा बनाने का आरोप
  • शिकायतकर्ता के आरोप पर ड्रग विभाग ने बिठाई जांच
  • सैंपल लेकर मांगी पूरी रिपोर्टः मनीष कपूर

बद्दी (पंकज गोल्डी) 

औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में एक दवा कंपनी पर घटिया तरीके से दवाईयां बनाने का आरोप लगा है जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने जांच बिठा दी है। शिकायतकर्ता की लिखित शिकायत के बाद ड्रग कंट्रोलर कार्यालय हरकत में आ गया है। विभागीय अधिकारियों ने कंपनी से विभिन्न सैंपल उठाकर लैब में जांच के लिए भेज दिया है और वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही अगली कार्यवाही संभावित है।

फिलहाल कंपनी अपना उत्पादन यथावत जारी रखेगी। शिकायत कर्ता का आरोप है कि  एशिया का  फार्मा हब कहलाने वाले  हिमाचल  प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्र बददी में एक उच्च स्तरीय दवाइयां सारे नियम मानकों को ताक पर रखकर लेबर से  बनवाई जा रही हैं। गुरुवार शाम को हिमाचल के ड्रग कंट्रोलर विभाग के डिप्टी ड्रग कंट्रोलर मुनीष कपूर ने तुरंत हरकत में आते ही शिकायत पर जांच बिठा दी और अपनी टीम से पूरी रिपोर्ट मांगी कि वास्तव में हकीकत क्या है।

उसके बाद विभाग के ड्रग इंस्पेक्टर बसंत मित्तल ने औद्योगिक क्षेत्र मानपुरा लोदीमाजरा का दौरा किया और उद्योग में जाकर बारीकियों से जांच की। सूत्रों से पता चला है कि इस दवा फैक्ट्री को अधोमानक मानते हुए ड्रग्स विभाग ने लगभग छह महीने पहले ही  लाइसेंस दिया है । इस कंपनी द्वारा निर्मित कुछ दवाईयां बिहार भेजी गई जो कि इस समय चमकी बुखार से जूझ रहा है ।

सैंपल लेकर लैब में भेजेः कपूर

इस संदर्भ में नवनियुक्त डिप्टी ड्रग कंट्रोलर मनीष कपूर ने बताया कि ड्रग कंट्रोलर विभाग के अधिकारियों ने तुरन्त मामले पर करवाई करते हुए 6-7 दवाईयों के सैंपल अपने कब्जे में लेकर जाँच  रिपोर्ट के लिए लैब में जांच के लिए भेज दिया है। जांच रिपोर्ट एक सप्ताह में आने के बाद दवाईयों के असली व् नकली होने की पुष्टि होगी इसलिए अभी हम कुछ नहीं कह सकते।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments