जनपद के समस्त ग्राम पंचायतों में बेसलाइन सर्वे कराये जाने हेतु बैठक मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में सम्पन्न-

जनपद के समस्त ग्राम पंचायतों में बेसलाइन सर्वे कराये जाने हेतु बैठक मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में सम्पन्न-
  • गाम पंचायतों में 29 विभागों द्वारा बेसलाइन सर्वे किया जायेगा-सीडीओ 

स्वतंत्र प्रभात

बलरामपुर दिनांक 23 सितम्बर, 2019 बलरामपुर।  ग्राम पंचायत विकास योजना निर्माण व मिशन अन्त्योदय को सफल बनाने हेतु ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों व अन्य संशाधनों का बेसलाइन सर्वे किया जाना है। बेसलाइन सर्वे कराए जाने हेतु एक महत्वपूर्ण बैठक मुख्य विकास अधिकारी अमनदीप डुली की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में संपन्न हुआ। बैठक में परियोजना निदेशक अनिल कुमार सिंह ने बताया कि 02 अक्टूबर से ग्राम पंचायतों में बेसलाइन सर्वे का कार्य प्रारंभ होगा। इस सर्वे में ग्राम पंचायतों में 29 विभागों द्वारा किये गये कार्यों का सर्वे किया जायेगा। सर्वे में गांवों में विद्युत, जल, सड़क, पंचायत भवन, परिवहन सेवा, शिक्षा व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्था, साफ-सफाई, सिचाई, लघु सिचाई आदि मानकों का सर्वे किया जायेगा। इस सर्वे के आधार पर ग्राम पंचायतों को अंक प्रदान कर ग्राम पंचायतों की रेटिंग की जायेगी। परियोजना निदेशक ने बताया कि सर्वे 145 विन्दुओं पर की जायेगी, जिसके आधार पर ग्राम पंचायतों की रेटिंग की जायेगी। सर्वे के बाद ग्राम पंचायतों की खुली बैठक कर  पिछड़े मानको को ग्राम पंचायत कार्ययोजना में शामिल किया जायेगा। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि सर्वे का कार्य 29 विभागों के कर्मचारियों द्वारा ग्राम पंचायतों में किया जाना है। उन्होंने निर्देश दिया कि सभी विभागों के अधिकारी ग्राम पंचायतों कराये गये कार्यो की रिपोर्ट दें दे, जिससे उन कार्यो का सर्वे किया जा सके। उन्होंने कहा कि सर्वे का कार्य किये जाने वाले कर्मचारियों का प्रशिक्षण 27 को विकास खण्डों में किया जायेगा। प्रशिक्षण राज्य स्तरीय ट्रेनरों द्वारा दिया जायेगा। मुख्य विकास अधिकारी ने सर्वे का कार्य गुणवत्तापूर्ण किये जाने व 145 विन्दुओं के प्रपत्रों को आॅनलाइन फीडिंग किये जाने का निर्देश दिया। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमनदीप डुली, परियोजना निदेशक अनिल कुमार सिंह, डीसी मनरेगा, बीएसए हरिहर प्रसाद, डीआईओएस महेन्द्र कुमार कनौजिया, समस्त बीडीओ, समाज कल्याण अधिकारी, डीपीआरओ, एक्सईएन विद्युत, पीडब्ल्यूडी व अन्य संबन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे

 
 
 
 
 
 
 

Comments