बुद्ध जन्मोत्सव पर मौर्य समाज ने किया विषाल खीरदान का आयोजन

बुद्ध जन्मोत्सव पर मौर्य समाज ने किया विषाल खीरदान का आयोजन

गौतमबुद्ध का बताया हुआ ज्ञान सर्वसमाज के लिए कल्याणकारी  है और विष्वको एक सूत्र में पिरोने की क्षमता उनके धम्म में है।

बुद्ध काज न्म 563ई0 पू0 बैसाख पूर्णिमा को हुआ था तथा आज ही के दिन महाकारूणिक बौधिसतव सम्यक सम्बुद्ध तथा गत गौतम को महापरिनिर्वाण की प्राप्ति हुई थी। ऐसा सम्पूर्ण विष्व में अन्य किसी महापुरूश के साथ कभी नहीं हुआ।

भगवान गौतमबुद्ध के जन्मोत्सव की खुषी में मौर्य समाज द्वारा विगत कई वर्शों से विषाल खीरदानोत्सव का भण्डारा आयोजित किया जाता है। वहीं दूसरी तरफ बुद्ध के धम्म की चर्चा करने दूर-दराज से भन्तेगण आते हैं।अबकी बार 2582वें जन्मदिन की खुषी में छाया चैराहा पर खीरदान का कार्यक्रम सुबह से लेकर देर रात तक चलता रहा। हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसादस्वरूप खीरग्रहण किया।

आयोजित कार्यक्रम के अतिथिगण धर्मराज सिंह (सदर विधायक), रामसागर रावत (पूर्व सांसद), व आर0पी0 गौतम एवंअन्य गणमान्य लोगउपस्थितरहे। खीरदान की षुरूआत भगवानबुद्ध की स्तुति करते हुए अम्बरीष षास्त्री, सुरेन्द ्रमौर्य, षोभाराम, रामनरेष आदि ने की। खीरदानोत्सव के कार्यकर्ताओं में राहुल मौर्य, षोभित, दीपांकर, आभाश, सक्षम, षिवकुमार, षैलेन्द्र, लवकुष, अजय आदि लोग मौजूदरहे।

Comments