शिक्षक वह चिराग होता है जो अपनी रोशनी से पूरे घर को करता है रोशन

शिक्षक वह चिराग होता है जो अपनी रोशनी से पूरे घर को करता है  रोशन

रिपोर्ट-जिला ब्यूरो प्रवीण तिवारी के साथ शिवशंकर तिवारी

रामसनेहीघाट बाराबंकी।
शिक्षक वह चिराग होता है जो अपनी रोशनी से पूरे घर को रोशन करता है।

 शिक्षक अगर लगन से कार्य करे तो दबे कुचले मासूमो को हीरे जैसा चमका कर उसे कामयाबी की उन उचाईयो को तक पहुचा सकता है जहाँ बिना शिक्षा के कोई पहुच नही सकता।ऐसा कुछ शिक्षा क्षेत्र बनीकोडर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय रामसनेहीघाट में देखने को मिला, यहां पर बच्चों को विभिन्न शैक्षिक एवं रचनात्मक कार्यो में शिक्षकों द्वारा नई पहचान दी जा रही है।

इस विद्यालय के प्रभारी प्र अ डॉ नरेन्द्र प्रकाश मिश्र के कुशल संचालन एवं निर्देशन में सभी बच्चों का शिक्षा क्षेत्र में सर्वांगीण विकास शिक्षकों द्वारा किया जा रहा है।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय रामसनेहीघाट में पहुच श्री मिश्र से इस विद्यालय में वर्तमान पंजीकृत छात्रों की संख्या जानी तो यहां पर 242 बच्चे पंजीकृत बताए गए है।

बनीकोडर क्षेत्र का एक मात्र सुविधाओं से लैस है ये विद्यालय

इतना ही नाहीं इस विद्यालयों की जब अन्य सुबिधायो पर नजर डाली गई तो देखा गया कि यह बनीकोडर का ऐसा विद्यालय है ।जो सी सी टी वी कैमरे की में बच्चों को शिक्षित कर रहा है, यहां पर सरकार की मंशा अनुसार विद्यालय में कंप्यूटर शिक्षा शिक्षकों द्वारा दी जा रही है तथा बच्चे स्वयं करके सीख रहे है।

यह विद्यालय सन 1948 से स्थापित किया गया है। पुरानी बिल्डिंग में संचालित यह विद्यालय अंदर कक्षों में आधुनिक शिक्षा एवम प्राइवेट विद्यालय से ज्यादा आभायुक्त दिखता है।दीवारों पर देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, राज नेताओ, वीरांगनाओं, कवियों एवम वैज्ञनिकों का कुशल चित्रांकन इस विद्यालय की शिक्षा व शिक्षकों की ईमानदार छवि को चार चांद लगा रहा है ।

इतना ही नही विभिन्न खेलकूद के क्षेत्रों में विश्वविख्यात खिलाड़ियों के चित्र बच्चों में नई ऊर्जा का संचार करते है। मिश्र से विद्यालय के बारे में जानकारी की गई तो उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि वार्षिक गतिविधियों में समय समय पर बच्चों द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया है।

प्रधानाचार्य नरेंद्र कुमार मिश्र ने बच्चों के बेहतरी के लिए किए कर  रहें हैं सभी उपाय

जैसे क्राफ्ट वर्क, सिलाई, कढ़ाई क्विज सामान्य ज्ञान, विज्ञान, हरबेरियम फाइल, प्रोजेक्ट वर्क, अनुपयोगी वस्तुओं से विभिन्न चीज़ो का निर्माण, आओ करके सीखे,कहो कहानी,सबसे अच्छा कौन, सुलेख,वाद विवाद ,अंत्याक्षरी, सांस्कृतिक कार्यक्रम, रंगोली प्रतियोगिता, मेंहदी प्रतियोगिता, प्रोजेक्ट वर्क, हरबेरियम फ़ाइल , बेकार वस्तुओं से नवाचार निर्माण , सुलेख, वाद- विवाद एवं कहो कहानी,

आओ करके सीखें , सबसे अच्छा कौन आदि प्रतियोगिताओं में बढ़-चढ़ कर हिस्सा विद्यालय लेता रहा है ।

उन्होंने बताया कि विकासखंड स्तरीय चित्रकला प्रतियोगिता में छात्र सुमित कुमार प्रथम स्थान , विज्ञान क्विज में हर्षित यादव व आनन्द वर्मा क्रमशः द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार , सुलेख प्रतियोगिता में रोशनी को सांत्वना पुरस्कार मिला । पोस्टर प्रतियोगिता में आनन्द वर्मा, नंदिनी साहू, मोसना बानो , साहिबा बानो, हर्षित यादव अपनी प्रतिभा का समय-समय पर प्रदर्शन कर चुके हैं ।

माननीय जनप्रतिनिधियों तथा अधिकारियों द्वारा विभिन्न अवसरों पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया जा चुका है ।

सर्वाधिक नामांकन हेतु पुरुस्कार पा चुका है विद्यालय

यह विद्यालय सर्वाधिक नामांकन में विकासखंड स्तर पर उपजिलाधिकारी रामसनेहीघाट द्वारा पुरस्कृत हो चुका है ।

खंड शिक्षा अधिकारी का कार्यालय यहाँ पर स्थित होने के कारण भी हर समय खंड शिक्षा अधिकारी अध्यापकों को शिक्षा  के लिए  प्रेरित करते रहते हैं

खंड शिक्षाधिकारी डॉ अजीत कुमार सिंह भी इस विद्यालय पर हर समय नजर बनाए रहते है ।तथा वह भी इस विद्यालय की शिक्षा की प्रशंसा करते है।डॉ मिश्र द्वारा इस विद्यालय के इस शैक्षिक वातावरण के लिये अपने शिक्षकों की टीम हरिशंकर वर्मा, मधुबाला, सन्ध्या सिंह , दुर्गेश कुमार, नागरी पाण्डेय, आभा चतुर्वेदी की सक्रिय भूमिका को मानते हैं ।आज कई मॉन्टेसरी / प्राइवेट विद्यालयों के बच्चों ने यहाँ नामांकन कराया है ।यह विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में अपना अलग ही विशिष्ट स्थान रखता है ।

Comments