राजकिशोर के समर्थक आचार संहिता उल्लंघन करते हुए नारे लगाते हुए पहुंचे नामांकन का कच्छ

राजकिशोर के समर्थक आचार संहिता उल्लंघन करते हुए नारे लगाते हुए पहुंचे नामांकन का कच्छ

 बस्ती।  बस्ती जिले के लोकसभा क्षेत्र 61 के कांग्रेस प्रत्याशी राज किशोर सिंह अपने दल बल सहित आज बसती के कलेक्टर परिसर में नामांकन दाखिल किया और प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने बीजेपी गठबंधन में दरार महा मिलावट गठबंधन में महा दरार को बताते हुए उन्होंने कहा वर्तमान सरकार किसान और नौजवान गरीबों को थका है जुमलेबाजी करके सरकार जनता को गुमराह किया है को गुमराह किया

आज सुबह 10:30 बजे कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मंत्री राज किशोर सिंह का काफिला बसती शहर से होते हुए कलेक्टर परिसर के बाहर पुलिस द्वारा रोक दिया गया कार्यकर्ताओं द्वारा जोरदार नारेबाजी करते हुए कलेक्टर परिसर के गेट पर पहुंचे और वहां से अपना नामांकन दाखिल किए नामांकन दाखिल करने के बाद बीजेपी गठबंधन को बताया कि महा दरार पैदा हो गई है बीजेपी की हार सुनिश्चित है पूर्वांचल में कांग्रेस को संजीवनी देने का काम करूंगा और पूर्वांचल की सभी कांग्रेसी के जीतने का काम करूंगा हमारी सरकार बनते ही किसान नौजवानों को बेरोजगारों को रोजगार और किसानों को ₹72000 सालाना दिया जाएगा हमारी सरकार में जनता को गुमराह नहीं किया जाता है और ना हम सोने वाले नहीं हैं जीत जाने के बाद लोग सोते रहे

5 साल महागठबंधन के प्रत्याशी सांसद रहे उसके बाद 5 साल बीजेपी गठबंधन के सांसद रहे इन्होंने जनता के बीच में जाने का कोई सवाल ना समझा इसलिए आज जनता इन्हें गांव से खदेड़ रही है जीता जागता उदाहरण बीते दिनों में सांसद कई गांव में से भगाए गए आज कांग्रेस प्रत्याशी जिस गांव में जाता है वहां महिलाओं और बुजुर्गों द्वारा सम्मान दिया जाता है 15 साल मंत्री रहने के बावजूद क्षेत्र में इतना विकास किया हूं जनता मुझे पुकारा है तब हम कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में बसती से नामांकन दाखिल कर रहा हूं और मुझे विश्वास है जनता हमें संसद तक पहुंचाएगी इस मौके पर राज किशोर सिंह के छोटे अनुज डिंपल और ब्रिज किशोर सिंह और खादिम हुसैन सिंह अनिल टाइगर साहिल हजारों कार्यकर्ता बधाई देते हुए कहा और जीत सुनिश्चित है प्रेस वार्ता के दौरान राज किशोर सिंह ने कहा की जो दो प्रत्याशी अपने आप को जीत का दावा कर रहे हैं वह हमारे आगे डमी कैंडिडेट दिखाई दे रहे हैं जनता इन से जवाब मांगती है तो यह गांव छोड़कर भाग जाते हैं
 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments