भू माफियाओं की दबंगई के आगे प्रशासन पस्त

भू माफियाओं की दबंगई के आगे प्रशासन पस्त

भू माफियाओं की दबंगई के आगे प्रशासन पस्त 

अपने ही स्कूलों की बाउंड्री वॉल बनवाने में छूट रहे प्रशासन के पसीने कई स्कूलों की अधूरी पड़ी चहारदीवारी भूमाफियाओं के दबंगई की बन रहीं गवाह

बिलग्राम हरदोई ।।

जिलाधिकारी पुलकित खरे के निर्देश पर गांव से लेकर कस्बों में प्राथमिक व जूनियर स्कूलों में बन रहीं बाउंड्रीवाल को कई स्थानों पर अब भू माफियाओं ने अधर में लटका दिया है जिससे स्कूलों में बनी अधूरी चहारदीवारी किसी काम की नहीं है आपको को बता दे कि स्कूलों की जमीन पर हो रहे अवैध कब्जों की वजह और उसमे रखे सामान की सेफ्टी एवं स्वच्छता को देखते हुए जिलाधिकारी ने सभी स्कूलों की चहारदीवारी बनाने के निर्देश दिए थे

ताकि स्कूलों की जमीन सुरक्षित रह सके और इन सरकारी विद्यालयों को कोई भी अपने निजी प्रयोग में न ला सके।क्षेत्र के बहुत से स्कूलों में अब तक बाउंड्री वॉल का कार्य पूरा कर लिया गया लेकिन कई स्कूलों में अभी भी चहारदीवारी अधूरी बनी हुई है जिससे उसके बनने या न बनने का कोई फायदा नजर नहीं आता बिलग्राम क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम रहुला व मजरा गनीपुर में कई महीनों से स्कूलों की बाउंड्री वॉल अधूरी बनी पड़ी हैं

जिससे स्कूलों में जानवर घुस कर गोबर कर देते हैं वहीं आसपास के अराजक तत्वों के उसमे जुआं खेलने व शराब पीने की भी खबरें मिलती रहती हैं। अब इन स्कूलों में अभी तक चहारदीवारी क्यों पूरी नहीं कराई गई ये सोचने वाली बात है। लोगों से हुई बातचीत में ये जानकारी प्राप्त हुई है कि इन विद्यालयों के आसपास स्कूल की जमीन पर अवैध कब्जेदारों का कब्जा है जिसे प्रशासन अभी तक खाली नहीं करा सका है जो ये बाउंड्री वॉल बनवाने का कार्य पूरा किया जा सके।

लगता है कि प्रशासन इन अवैध कब्जेदारों के आगे घुटने टेक चुकी है तभी भू माफिया स्कूल की जमीन को खाली करने में आनाकानी कर रहे हैं। यदि ऐसा है तो आम आदमी का फिर अपनी जमीन को कब्जा मुक्त कराने के लिए सरकार से गुहार लगाना बेकार है। जब प्रशासन अपने स्कूलों को कब्जा मुक्त नहीं करा सकता तो फिर अवाम की जमीन को कैसे कब्जा मुक्त करा सकता है ये सोचने वाली बात है

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments