एक दिन की एसपी बनी छात्राएँ, कहा पुलिस को करनी पड़ती है बहुत मेहनत

एक दिन की एसपी बनी छात्राएँ, कहा पुलिस को करनी पड़ती है बहुत मेहनत

              अमेठी। जनपद मे पुलिस द्वारा जारी यातायात सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम जारी है जिसमे रोज पुलिस जागरूकता का काम कर रही है।

              इसी दौरान शुक्रवार 22 नवंबर को अमेठी जनपद की पुलिस अधीक्षक डॉ0 ख्याति गर्ग ने मनीषी बालिका इंटर कालेज के आठ छात्राओं को एक दिन का एसपी बनाया।

              एसपी डॉ0 ख्याति गर्ग ने बताया कि छात्राओं ने यातायात जागरूकता संबंधी नुक्कड़ नाटक बहुत तैयारी के साथ किया था जिसके पारितोषिक के रूप मे हमने उन्हे एक दिन का पुलिस अधीक्षक बनाने का वादा किया था।

              उसी क्रम मे विद्यालय कि छात्राएँ पारुल तिवारी, चित्रांशी श्रीवास्तव, आस्था तिवारी, स्वाति वर्मा, रुचि तिवारी, रिया सिंह, अनुपम यादव, लक्ष्मी सोनी को एक दिन का एसपी बनाया गया।

              इन छात्राओं ने थाना गौरीगंज का भ्रमण किया और थाने के काम-काज को समझा। साथ ही सीयूजी नंबर के माध्यम से प्राप्त फोन काल को रिसीव कर निर्देश भी दिए।

              छात्राओं के समूह ने एसपी कार्यालय के प्रमुख विभागों जैसे शिकायत प्रकोष्ठ, डीसीआरबी, महिलाओं के लिए बने रानी लक्ष्मी बाई प्रकोष्ठ, आदि का निरीक्षण किया और एसपी के काम-काज को समझा।

              अंत मे छात्राओं के समूह ने पुलिस अधीक्षक कक्ष मे एसपी के समक्ष पहुंचे फरियादियों को गंभीरता से सुना और समस्याओं को निस्तारित करने का प्रयास किया। जिससे छात्राओं कि प्रशासनिक क्षमता का एहसास हुआ।

              एक दिन के एसपी के रूप मे अपने अनुभव को बताते हुए छात्राओं ने कहा कि अमेठी पुलिस बहुत मेहनत कर रही है। पुलिस का काम बहुत कठिन जिसमे बहुत काम करना पड़ता है।

              एसपी डॉ0 ख्याति गर्ग ने कहा कि छात्राओं के माध्यम से जन-जागरूकता का मकसद कामयाब हो रहा है। छात्राओं ने बहुत अच्छे तरीके से पुलिस के काम को समझा और समस्याओं को निस्तारित करने का काम किया है जिससे लगता है कि भविष्य मे यह राष्ट्र निर्माण मे अच्छा योगदान देंगी।

Comments