प्रेमिका के साथ भागे आरोपी युवक पुलिस अभिरक्षा में फांसी में झूल कर जान देने का असफल प्रयास

प्रेमिका के साथ भागे आरोपी युवक पुलिस अभिरक्षा में फांसी में झूल कर जान देने का असफल प्रयास

पुलिस कस्टडी में हैलेट कानपुर में चल रहा इलाज

मलवां/फतेहपुर

जनपद के मलवा थाना में  उस हड़कंप मच गया जब पुलिस अभिरक्षा में आरोपी बंदी नीरज शौचालय में फांसी में झूल कर आत्महत्या करने का असफल प्रयास किया ये देख थाना पुलिस के हाथ पांव फूल गया और प्राण छूटने के पूर्व फंदे से उतारकर सदर ले जाया गया जहाँ से कानपुर मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया गया जहां जीवन मौत से संघर्ष कर रहा है

बताया जाता है कि थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुंवरपुर निवासी गुलाब ने थाने में तहरीर देकर बताया कि मेरी नाबालिक पुत्री राधा (काल्पनिक नाम) उम्र लगभग 15 साल  को नीरज पुत्र पुत्तन उम्र लगभाग बाईस वर्ष 12 मई 2019 को बहला-फुसलाकर  घर से भगा ले गया  दोनों के भाग जाने के बाद  घर वालों ने  नाते रिश्तेदारी  एवं परिचितों के यहां  लड़की को  बहुत ढूंढा  लेकिन  लड़की का कहीं  कोई पता ठिकाना नहीं मिला

  तो पुलिस में तहरीर दिया है,तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने भी अपने स्तर पर दोनों को ढूंढा कोई सुराग ना मिलने पर लड़के के चाचा व मामा को पूछताछ के लिए पुलिस थाने में पकड़ लाई और दबाव बनाने के बाद चाचा ने जिसको की पूरी कहानी की जानकारी थी उन्होंने नीरज को थाने में बुलवा लिया नीरज लड़की के साथ थाने आ गया

तो उसके बाद दोनों पक्षों में  समझौते की बात होने लगी लेकिन लड़की किसी भी हालत में  अपने घर जाने को  तैयार नहीं थी  और कह रही थी की हम नीरज के  ही साथ में रहेंगे और केवल नीरज के ही साथ उसके घर जाएंगे 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इसीबीच एक पुलिस सिपाही  ने लड़की के सामने लड़के को जोरदार थप्पड़ मार दिया जिससे लड़की भी बहुत नाराज हो गयी और लड़के को भी यह बात नागवार गुजरी और उसको यह लगा  कि मेरी बेइज्जती कर दी गई तो लड़के ने रात में शौचालय का बहाना कर के अन्दर फाँसी लगा ली आनन फानन में उसे फांसी से उतार कर तुरन्त अस्पताल मैं भर्ती करवाया गया जहां लड़के की हालत चिंताजनक होने के कारण डॉक्टरों ने कानपुर के लाला लाजपत राय चिकित्सालय हैलट अस्पताल कानपुर के लिए रिफर कर दिया जहा अब जीवन मौत से संघर्ष कर रहा है  और इलाज जारी है। 

जब इस्पेक्टर मलवा से इस बारे में जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया की नीरज एक नाबालिग लड़की को भगा ले गया था जिस पर परिवारी जनों ने तहरीर दिया था उस तहरीर के आधार पर आईपीसी की धारा 363 366 और 376 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है नीरज को सुबह संबंधित अदालत में पेश करना था लेकिन उसके फांसी लगा लेने के कारण उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उसका इलाज चल रहा है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments